Breaking News

सशस्त्र सेना चिकित्सा सामान डिपो (एएफएमएसडी) लखनऊ द्वारा ‘आपूर्ति-2022’ नामक तीन दिवसीय सम्मेलन 19 से 21 सितंबर तक

सशस्त्र बलों में चिकित्सा आपूर्ति श्रृंखला और रसद में प्रगति विषय पर आधारित सम्मेलन में सशस्त्र सेना चिकित्सा सेवाओं की बाबत किया जाएगा विचार-विमर्श

लखनऊ। सशस्त्र सेना चिकित्सा सामान डिपो (AFMSD) लखनऊ 19 से 21 सितंबर 2022 तक ‘आपूर्ति-2022’ की मेजबानी करने के लिए पूरी तरह तैयार है। जो चिकित्सा आपूर्ति श्रृंखला और रसद को ध्यान में रखकर बनाया गया एक अनूठा सम्मेलन है। तीन दिवसीय कार्यक्रम में सशस्त्र सेना चिकित्सा सेवाओं के निर्णय निर्माताओं के बीच विचार-विमर्श किया जाएगा, जिन्हें देश भर में सशस्त्र बलों के अस्पतालों के विशाल नेटवर्क को लैस करने और बनाए रखने की भूमिका सौंपी गई है। यह ध्यान दिया जा सकता है कि आपूर्ति श्रृंखलाओं के तेजी से डिजिटलीकरण के साथ, सशस्त्र सेना चिकित्सा सेवा सैनिकों को सीमा पर चिकित्सा आपूर्ति सुचारू रूप से चलाने के लिए नई आपूर्ति श्रृंखला मॉडल के साथ खुद को तैयार कर रही है।

सम्मेलन का आयोजन एएफएमएसडी लखनऊ द्वारा किया गया है जो पिछले 79 वर्षों से चिकित्सा उपकरण, उपभोग्य सामग्रियों और दवाओं की खरीद, भंडारण और आपूर्ति के कार्य के लिए समर्पित एक संगठन है। महानिदेशक सशस्त्र सेना चिकित्सा सेवा (डीजीएएफएमएस) के तत्वावधान में संचालित, यह इकाई देश भर में तीन ऐसे संगठनों में से एक है जो न केवल सेना, वायु सेना और नौसेना की बल्कि अर्ध-सैन्य बलों की भी जरूरतों को पूरा करती है जिसमें असम राइफल्स, तटरक्षक बल, आयुध कारखाने और ईसीएचएस शामिल हैं। डिपो ने डीजीएएफएमएस के नेतृत्व में कोविड महामारी के दौरान और मित्र देशों को आपूर्ति सुनिश्चित करके राष्ट्र को महत्वपूर्ण सेवा प्रदान की है। वर्षों से, एएफएमएसडी लखनऊ सशस्त्र बल चिकित्सा सेवाओं की मशीनरी में एक महत्वपूर्ण गियर बन गया है और सक्षम सर्वोत्तम प्रथाओं को अपनाने के लिए यह पूरी तरह तैयार है।

आपूर्ति-2022 के हिस्से के रूप में, आपूर्ति श्रृंखला में इन्वेंट्री ऑप्टिमाइजेशन, ई-प्रोक्योरमेंट, डिजिटल इन्वेंट्री, ऑडिटिंग और गुणवत्ता आश्वासन जैसे महत्वपूर्ण मामलों पर कई सत्र होंगे। समसामयिक विषयों जैसे कि फ्रंटलाइन और नेटवर्क वाले गोदामों आदि में दवाएं पहुंचाने के लिए ड्रोन के संभावित उपयोग आदि पर भी चर्चा की जाएगी।

एएफएमएसडी ने संबंधित संगठनों जैसे कि गवर्नमेंट ई-मार्केटप्लेस (जीईएम), यूपी राज्य चिकित्सा आपूर्ति निगम द्वारा अपनाई जा रही सर्वोत्तम कार्यशैलियों का अध्ययन करने की कोशिश की है और सत्र ऐसे संगठनों से सर्वोत्तम प्रणालियों को सीखने पर केंद्रित हैं।

एएफएमएसडी के कर्मचारियों के अलावा देश भर से लगभग 100 प्रतिनिधि भाग लेंगे। उपस्थित लोगों में चिकित्सा आपूर्ति सुनिश्चित करने के लिए सौंपे गए वरिष्ठ और मध्य स्तर के अधिकारी शामिल होंगे। ‘पूर्ति’ की भावना को दर्शाने के लिए सम्मेलन का नाम आपूर्ति रखा गया है जिसके निर्वासन का उद्देश्य ग्राहकों में पूर्ण संतुष्टि हासिल करना है।

रिपोर्ट-दया शंकर चौधरी

About Samar Saleel

Check Also

गाइड समाज कल्याण संस्थान ने वृद्धाश्रम में बुजुर्ग जनों के साथ मनाया मंत्री असीम अरुण का जन्मदिवस 

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। आज जिला समाज कल्याण विभाग बरेली एवं ...