Breaking News

संयुक्त अनुसंधान और शैक्षिक गतिविधियों के लिए डे ला मानौबा और लविवि के बीच हुआ करार

लखनऊ। ट्यूनीशिया की यूनिवर्सिटी डे ला मनौबा मे भौतिक विज्ञान की प्रो बौथिना केरकेनी लखनऊ विश्वविद्यालय आई हुई हैं। उन्होंने भविष्य के लिए दोनो विश्वविद्यालयों के बीच एमओयू, साझा अनुसंधान एवं शैक्षणिक गतिविधियों के लिए कुलपति प्रो आलोक कुमार राय के साथ शिष्टाचार मुलाकात करी। प्रोफेसर केरकेनी ने बताया कि उनके आने का मुख्य उद्देश्य प्रोफेसर पूनम टंडन और डॉ अलका मिश्रा के साथ साझा अनुसंधान गतिविधियों को बढावा देना था, जिससे विज्ञान की कुछ महत्वपूर्ण चुनौतियों पर मिलकर काम किया जा सके।

COVID cases in China पर सीईओ अदार पूनावाला ने लोगों से की ये अपील

बताते चलें कि प्रोफेसर केरकेनी, फैकल्टी डेस साइंसेज डे ट्यूनिस, यूनिवर्सिट ट्यूनिस एल मनार, ट्यूनीशिया में क्वांटम रसायन विज्ञान अनुसंधान समूह की प्रमुख हैं। उनका शोध इंटरस्टेलर माध्यम में जीवन की उत्पत्ति के परिणामी प्रभावों के साथ भौतिक और रासायनिक प्रक्रियाओं को समझने पर केंद्रित है। गैस चरण में रासायनिक प्रतिक्रियाओं के क्षेत्र में और इंटरस्टेलर माध्यम के धूल कणों पर छात्रों के लिए ऑनलाइन सेमिनार और कार्यशाला आयोजित करने के बारे में कई विचारों पर सकारात्मक पहल की गई है।

प्रोफेसर केरकेनी ने बताया कि कुलपति के साथ बातचीत मे ट्यूनीशिया और भारत के बीच छात्रों के आदान-प्रदान पर भी चर्चा हुई। उन्होने भौतिक विज्ञान विभाग के अन्य सदस्यों से भी साझा शैक्षणिक गतिविधियों पर चर्चा करी जिनमे प्रोफेसर अमृताॅशु शुक्ल और डा विवेक कुमार सिंह भी शामिल रहे।

प्रोफेसर केरकेनी लखनऊ विश्वविद्यालय में विभागों की संख्या, विश्वविद्यालय के छात्र केंद्रित वातावरण और परिसर में स्वादिष्ट भारतीय भोजन से काफी प्रभावित दिखी। उन्होंने मेजबान टीम का आभार व्यक्त किया और इस बहुसांस्कृतिक शहर में आने का आनंद लिया।

About Samar Saleel

Check Also

एशिया आर्थिक संवाद में जुटे 11 देशों के नीति निर्माता और उद्योग विशेषज्ञ

विदेश मंत्रालय और पुणे इंटरनेशनल सेंटर की ओर से गुरुवार को यहां एशिया आर्थिक संवाद ...