Breaking News

पीजीडीएवी कॉलेज का वार्षिक समारोह सम्पन्न

इस धरती पर आए हुए हर प्राणी की अपनी अहमियत है। बस उसे सही वक्त पर साबित करना होगा और यह काम शिक्षा के बदौलत ही संभव है। शिक्षित और साक्षर समाज से ही इस देश की तस्वीर बदल सकती है। इसलिए युवा पीढ़ी को “लर्न टू रिफ्लेक्ट, कट पेस्ट से बचना चाहिए।” ये बातें दिल्ली विश्वविद्यालय के पीजीडीएवी कॉलेज (सांध्य) के वार्षिक समारोह के अवसर पर कार्यक्रम के मुख्य अतिथि लेफ्टिनेंट जनरल अश्वनी कुमार बक्शी ने अपने वक्तव्य में कही।
उन्होंने युवा विद्यार्थियों का उत्साहवर्धन करते हुए कहा कि आप अपनी भूमिका का निर्वाह करें और किसी बड़े अवसर की तलाश में टुकड़े-टुकड़े मिली कामयाबी को पहचानें। दौड़ नहीं सकते तो चलिये, चल नहीं सकते तो रेंगिये मगर रूकिये नहीं, परिवेश को दोष देकर हाथ बाँधे न रहें, प्रशंसा कीजिये, प्रशंसा लीजिये, राजनीति में हिस्सेदार बनें लेकिन समाज सेवा, पारदर्शिता, रचनात्मकता, सूझबूझ और भविष्यगामी योजना बनाकर चलें, फ्रीडम ऑफ स्पीच जरूर करें लेकिन अनर्गल आलाप से दूर रहें, फौज धर्म निरपेक्ष है उसकी कद्र करना सीखे।” उन्होंने आगे कहा कि “कतरा हूँ तो क्या वजूद तो है, सुना है कि सागर मेरी तलाश में है।”
वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह की शुरूआत औपचारिक, पारम्परिक और सांस्कृतिक यज्ञ एवं हवन के माध्यम से की गई। इस अवसर पर ‘काॅलेज ऑफ ब्लाण्ड्स’ डाक्यूमेंट्री के माध्यम से पूरे वर्ष किये गये महत्वपूर्ण कार्यक्रमों को खूबसूरती से संजोकर राहुल राणा ने प्रस्तुत किया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि का का स्वागत करते हुए कॉलेज के प्राचार्य डर रवींद्र कुमार गुप्ता ने कहा कि “समाज की वजह से हमारा अस्तित्व है। यह हमें समझना और उन्हें समझाना होगा। देश से ऊपर कुछ नहीं है, यह मानसिकता शिक्षा के माध्यम से विकसित करनी होगी। मानवता की बातें भी तभी सार्थक और उपयोगी होंगी जब देश के प्रति लगाव और समर्पण होगा।” छात्रों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि “छात्रों की सोच बदलेगी तभी देश बदलेगा और आगे बढ़ेगा, इसलिए देश की स्वच्छता के साथ-साथ सोच को भी स्वच्छ करना होगा और यही हमारा काॅलेज निरंतर कर रहा है।” इस अवसर पर डॉ. गुप्ता ने कॉलेज की वार्षिक विवरण रिपोर्ट प्रस्तुत की।
इस अवसर पर काॅलेज फाउंडर मेम्बर शिवराज गुप्ता, प्रातःकालीन कॉलेज के प्राचार्य डाॅ. मुकेश अग्रवाल, बरसर डॉ. सुरेश चन्द्र शर्मा मंचासीन थे। मुख्य अतिथि द्वारा कॉलेज के प्रतिभावान विद्यार्थियों को अकादमिक, सांस्कृतिक, खेल आदि क्षेत्रों में विविध पुरस्कारों से पुरस्कृत किया गया।
अंत में आमंत्रित अतिथियों और विद्यार्थियों का धन्यवाद करते हुए डॉ. एस. सी. शर्मा ने कहा कि प्रत्येक वर्ष विद्याथियों की प्रतिभा निरंतर विकास जी ओर अग्रसर है। इसका श्रेय कॉलेज की विभिन्न समितियों के सदस्यों और प्राध्यापकों को देते हुए उन्होंने कहा कि वर्षों से निरंतर विद्यार्थी-प्राध्यापक संवाद के कारण यह संभव हुआ है। कार्यक्रम का कुशल संचालन डाॅ. रूक्मिणी द्वारा किया गया।
रिपोर्ट: संजय गिरी

About Samar Saleel

Check Also

आंध्र प्रदेश में हुआ बड़ा हादसा, मकान में गैस सिलेंडर फटने से मलबे में दबे चार लोगों की हुई मौत

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें आंध्र प्रदेश के अनंतपुर जिले में शनिवार सुबह ...