Breaking News

पश्चिमी यूपी में भाजपा को मिली बढ़त, किसान आंदोलन चलाने वाले टिकैत बंधुओे के लिए शुभ संकेत नहीं

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में अब तक 38317 ग्राम प्रधान, 232612 ग्राम पंचायत सदस्य तथा 55926 क्षेत्र पंचायत सदस्य निर्वाचित घोषित किए जा चुके हैं। जिस तरह से नतीजे आ रहे हैं उससे यह तय हो गया है कि गांव की सरकार बनाने में भी भारतीय जनता पार्टी की महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। इसी के साथ जिला पंचायत सदस्यों के परिणाम भी मिलने लगे हैं। मतगणना आज भी जारी है। अब तक के जिला पंचायत सदस्यों के परिणामों में भारतीय जनता पार्टी बढ़त बनाए हुए है। भाजपा कुल 75 जिलों की 3051 पदों में एक हजार से  अधिक सीटों पर जीत दर्ज कर चुकी है, जबकि करीब 378 पदों पर उसके प्रत्याशी आगे थे। वहीं, समाजवादी पार्टी 500 से अधिक सीटें जीत चुकी है।

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव की मतगणना 826 मतदान केंद्रों में एक साथ चल रही है। मतगणना स्थल पर कोरोना का प्रभाव लगातार दिखाई दिया। इस कारण मतगणना की प्रक्रिया काफी धीमे चल रही है। राज्य निर्वाचन आयोग के अनुसार मतगणना कार्य शांतिपूर्ण ढंग से चल रहा है। मतगणना आज पूरी होने की उम्मीद जताई जा रही है। अब तक के नतीजों और रूझानों का क्षेत्रवार रिपोर्ट कार्ड देखा जाए तो पश्चिम के 14 जिलों में 446 जिला पंचायत सदस्यों में 132 सीटें जीत चुकी है व 72 पर आगे थी। पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भाजपा की बढ़त इस लिए भी मायने रखती है क्योंकि यहां किसान आंदोलन का जोर था और ऐसा लग रहा था पंचायत चुनाव में भाजपा को यहां से किसानो की नाराजगी का नुकसान उठाना पड़ सकता है। पश्चिमी यूपी में भाजपा की बढ़त ने भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत के लिए मुश्किल खड़ी कर दी है।

टिकैत लगातार कह रहे थे कि पंचायत चुनावों में बीजेपी को नये कृषि कानून के कारण किसानों की नाराजगी का खामियाजा भुगतना पड़ेगा। वहीं अन्य क्षेत्रों की बात की जाए तो ब्रज क्षेत्र के 12 जिलों की 463 सीटों में 137 जीत चुकी है, जबकि 74 में आगे चल रही है। कानपुर के 14 जिलों की 363 सीटों में 107 जीत चुकी है व 70 में आगे चल रही है। अवध क्षेत्र की 13 जिलों की 679 सीटों में से 194 पर भाजपा जीत चुकी है व 78 पर आगे चल रही है। भाजपा के मीडिया प्रभारी  ने बताया कि काशी क्षेत्र में कुल 12 जिलों की 574 सीटें हैं। इनमें 187 सीटों पर जीत दर्ज कर चुकी है, जबकि 80 सीटों में आगे चल है। गोरखपुर क्षेत्र में 10 जिलों की 526 सीटों में 161 भाजपा जीत चुकी है, जबकि 82 में वह आगे चल रही है।

बता दें कि जिला पंचायत सदस्य के 3050 पदों के लिए 44307 उम्मीदवार मैदान में हैं। वहीं क्षेत्र पंचायत सदस्य के 75,852 पदों पर 3,42,439 प्रत्याशी मैदान में थे। ग्राम प्रधान के 58,176 पदों के लिए 4,64,717 तथा ग्राम पंचायत सदस्य के 7,32,485 पदों के लिए 4,38,277 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। चुनाव में सात जिला पंचायत सदस्य, 2005 क्षेत्र पंचायत सदस्य, 178 ग्राम प्रधान व 317127 ग्राम पंचायत सदस्य निर्विरोध निर्वाचित पहले ही हो चुके हैं।
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने त्रिस्तरीय पंचायत चुनावों में पार्टी को मिल रहे जनसमर्थन के लिए जताया आभार रू बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने पंचायत चुनाव में पार्टी को मिले जनसमर्थन के लिए जनता का आभार व्यक्त करते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं को बधाई दी है।

उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों मे प्रत्याशियों को मिली विजय व समर्थन भाजपा सरकार द्वारा ग्रामीण क्षेत्रों के विकास व किसानों की उन्नति के लिए उठाए गए कदमों पर मुहर है। उन्होंने कहा कि अब तक लगभग 45 हजार से अधिक ग्राम प्रधान व 60 हजार से अधिक क्षेत्र पंचायत सदस्य के चुनाव में पार्टी कार्यकर्ता-समर्थक विजयी हुए हैं। उन्होंने पंचायत चुनाव में निर्वाचित जनप्रतिनिधियों को बधाई देते हुए कहा कि, सभी विजयी प्रत्याशी ग्रामीण क्षेत्रों के सर्वांगीण विकास व उन्हें शासन की समस्त योजनओं से जोड़ते हुए प्रदेश व देश के सर्वांगीण विकास की कड़ी बनेंगे।

      अजय कुमार
Loading...

About Samar Saleel

Check Also

भाजपा की नीति और नीयत में खोट: अखिलेश यादव

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *