Breaking News

प्राइवेट अस्पताल में महिला व नवजात की मौत मामला : संचालिका उसके पति व ससुर पर दर्ज हुआ गैरइरादतन हत्या का मुकदमा

बिधूना। कस्बा के बीना हाॅस्पिटल में महिला व उसकी नवजात बच्ची की मौत के मामले में मृतका के पति की तहरीर पर हाॅस्पिटल संचालिका, पति व ससुर पर गैरइरादतन हत्या का मुकदमा दर्ज किया गया है। पुलिस ने कहा कि मामले की जांच कर आवश्यक कार्रवाई की जायेगी। वहीं हाॅस्पिटल संचालिका ने कहा कि उनका हाॅस्पिटल स्वास्थ्य विभाग से रजिस्टर्ड है।

क्षेत्र के गांव भगवानपुरा निवासी लाल सिंह की गर्भवती पत्नी गीता देवी गुरूवार को भर्ती कराया गया था। रात्रि में महिला ने बच्ची को जन्म दिया था जिसकी उसी समय मौत हो गयी थी। जिसके बाद शुक्रवार की सुबह 9 बजे महिला की भी मृत्यु हो गयी थी। महिला के पति एवं परिजनों ने आरोप लगाया था कि चिकित्सक व हाॅस्पिटल स्टाफ की लापरवाही के चलते उसकी पत्नी की मौत हो गयी है। जिसके बाद परिजनों ने मिलकर अस्पताल में जमकर हंगामा करते हुए तोड़फोड़ का भी प्रयास किया था।

उधर मृतका के पति लाल सिंह की तहरीर पर पुलिस ने शनिवार को तीन लोगों अस्पताल संचालक राजपाल कश्यप, आशीष कश्यप व बीना कश्यप के विरूद्ध गैरइरादतन हत्या के मामले में मुकदमा दर्ज कर लिया है। पुलिस को दी तहरीर में लाल सिंह ने कहा कि उसने अपनी पत्नी गर्भवती गीता देवी को भरथना रोड़ स्थित बीना हाॅस्पिटल में प्रसव के लिए गुरूवार को भर्ती कराया था। जिस दौरान डाक्टर व स्टाफ ने लापरवाही बरतते हुए उसकी पत्नी को अन्य किसी अस्पताल में रेफर न करके नार्मल डिलीवरी की गारंटी लेते हुए भर्ती किया था और उससे 50 हजार रूपए जमा करा लिए थे। आरोप लगाया कि जिसके बाद डाक्टरों की लापरवाही की वजह से शुक्रवार को उसकी पत्नी व नवजात की नवजात की मौत हो गयी। कहा कि हॉस्पिटल संचालक व समस्त स्टाफ उसकी पत्नी को मौके पर छोड़कर भाग गये थे‌। उसने आरोपियों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर की मांग की।

पुलिस ने तहरीर के आधार पर तीन नामजद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। कोतवाल ने कहा कि पुलिस मामले की जांच कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करेगी।

वहीं हाॅस्पिटल संचालिका बीना ने बताया कि उनका हाॅस्पिटल रजिस्टर्ड है। जिसका 31 अगस्त 2022 को उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी औरैया द्वारा मेडिकल स्टेबलिश सर्टीफिकेट प्राप्त कर लिया था। जिसका प्रमाण पत्र नम्बर सीएमईई 2259741 है। बताया कि डा. हरिओम एमबीबीएस, डा. राम विक्रम सिंह बीएएमएस एवं श्रष्ठी पाण्डेय जीएनएम व माधुरी सविता एएनएम के रूप में पूरे समय अपनी सेवाएं दे रहे हैं। बताया कि मृतक महिला ने गुरूवार को ओम साई अल्ट्रासाउंड एवं पैथेलाॅजी सेंटर से अपना अल्ट्रासाउंड कराया था जिसमें उसकी रिपोर्ट मिस्ड एर्बाशन (आईयूडी) आयी थाी। बताया कि जिसके बाद वह उनके हाॅस्प्टिल में आयी जहां पर चिकित्सक ने उसे भर्ती करने से मना कर दिया था। जिसके बाद वह इटावा चली गयी जहां पर उसकी मौत हो गयी थी।

रिपोर्ट – राहुल तिवारी/संदीप राठौर चुनमुन

About Samar Saleel

Check Also

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में हुई पीपीपी मोड पर बायो-सीएनजी प्लाण्ट स्थापित किये जाने संबंधी ‘कमेटी ऑफ सेक्रेटरीज’ की बैठक

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें लखनऊ। प्रदेश के मुख्य सचिव दुर्गा शंकर मिश्र ...