Breaking News

पूर्वाेत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल कार्यालय में आयोजित किया गया हिंदी पखवाड़ा- 2022 का समापन समारोह

लखनऊ। पूर्वाेत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल में 14 सितम्बर से 29 सितम्बर तक मनाये जा रहे ‘हिंदी पखवाड़ा- 2022 समारोह’ के अवसर पर आज मण्डल रेल प्रबन्धक डा. मोनिका अग्निहोत्री की अध्यक्षता में मण्डल रेल प्रबन्धक कार्यालय के बहुद्देशीय हॉल में कवि सम्मेलन तथा पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षा मण्डल रेल प्रबन्धक डा. मोनिका अग्निहोत्री तथा मुख्य अतिथि डॉ. रश्मि कुमार विभागाध्यक्ष (हिन्दी विभाग), लखनऊ विश्वविद्यालय ने माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण कर दीप प्रज्जवलित किया। डा. अग्निहोत्री ने अपने अध्यक्षीय सम्बोधन में कहा कि मैं बड़े हर्ष एवं गर्व के साथ कह सकती हॅू कि इस ‘हिंदी पखवाड़ा’ के आयोजन में मण्डल के सभी स्टेशनों, लोको शेड, कोचिंग डिपों, रेलवे कार्यालयौं में रेलकर्मियों ने भाग लिया।

इस दौरान मण्डल में हिन्दी की विभिन्न रोचक प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। उन्होने कहा कि हिन्दी के प्रति अभिरूचि हिंदी पखवाड़ा तक ही सीमित न रहे, तथा इसमें उत्तरोत्तर वृद्धि भी होती रहे। हिन्दी हमारी राजभाषा है, इसकी प्रगति एवं प्रचार प्रसार के लिए हमारे मण्डल को हर वर्ष राजभाषा पुरस्कार प्राप्त होता है। हम पूरी निष्ठा एवं समर्पित भाव से संघ की राजभाषा नीति के अनुपालन में सद्भावना, प्रेरणा एवं प्रोत्साहन के माध्यम से राजभाषा हिंदी के प्रयोग प्रसार में निरंतर बढ़ चढ़ कर योगदान देते रहेंगे तथा आज कवि सम्मेलन के आयोजन से आपका मनोरंजन के साथ-साथ उत्साहवर्धन भी होगा।

इसके पश्चात समापन समारोह की मुख्य अतिथि डॉ. रश्मि कुमार ने अपने सम्बोधन में कहा कि देश के लिए भाषा बहुत बलवान होती है, भारत में आने से पहले विदेशियों ने शासन करने के लिए हमारी भाषा को सीखा। भाषा वह माध्यम है जिससे हम किसी के ऊपर प्रभाव डाल सकते है। अपनी भाषा और अपनी संस्कृति को संरक्षित करके रखना चाहिए। एक अच्छी शुरूआत से ही विजय होती है।

इसके पूर्व अपर मण्डल रेल प्रबन्धक (इंफ्रा) संजय यादव ने अपने स्वागत संबोधन में कहा कि राजभाषा पखवाड़ा के दौरान कार्यक्रमों में आमत्रित विद्वान व्याख्याताओं से रेलवे अधिकारियों एंव कर्मचारियों को कुछ अलग सीखने को मिलता है। इस दौरान ज्ञानवर्धक एवं रचनात्मक कार्यक्रमों के आयोजन से हिन्दी के प्रचार प्रसार को बल मिलता है। हिंदी की प्रगति एवं राजभाषा के रूप में विकास, दृढ संकल्प शक्ति से ही संभव है। उन्होंने ‘हिंदी पखवाड़ा के दौरान होने वाली प्रतियोगिताओं के विजेता प्रतिभागियों को बधाई भी बधाई दी।

इस अवसर पर चन्द्रशेखर वर्मा की अध्यक्षता में कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया, जिसमें अभय सिंह ने अपनी कविता “सैनिक के चरणों में सादर अपना शीश झुकाता हूं…”, अभिषेक सहज ने “मैं तुम्हारे शहर में हूॅ तुम्हें खबर ही नही…..”सौरभ जायसवाल ने “मिश्री कहू या शहद सा घुल रहा हूं मैं, इश्क में उसके इक्कीस दिन कुल रहा हॅू मैं,…..”, शिखा श्रीवास्तव ने ’’मैं नारी हॅू नारी का सम्मान समेटे हूॅ, मातृ शारदे ने जो दिया वरदान समेटे हूं…..”, अमित अनपढ़ ने “हम सो कर उठे, तो हमारे सर पर यमराज खडें थे…..” कविताओं की प्रस्तुतियां प्रदान की तथा अन्त में चन्द्रशेखर वर्मा ने अपनी कविता में ’’कहीं चन्दन महकता है, कहीं केसर महकता है, यह खुशबु है बुर्जुगों की मेरा घर महकता है…..” आदि काव्य प्रस्तुतियां दी।

इस अवसर पर मण्डल रेल प्रबन्धक ने ‘हिन्दी पखवाड़ा’ में आयोजित “हिन्दी वाक् प्रतियोगिता’ में सम्पत राम मीना लोको निरीक्षक, को प्रथम पुरस्कार, गोपाल कृष्ण धवन कार्याधी/भण्डार को द्वितीय पुरस्कार एवं रूचि उपाध्याय वरि.लिपिक को तृतीय पुरस्कार प्रदान किया। “हिन्दी सामान्य ज्ञान प्रतियोगिता” का प्रथम पुरस्कार गोपाल कृष्ण धवन कार्याधी, द्वितीय पुरस्कार अंकित गिरि, बियरर, व तृतीय पुरस्कार संतोष यादव, हेल्पर को, “हिन्दी क्विज प्रतियोगिता’ में प्रथम पुरस्कार गोपाल कृष्ण धवन कार्याधी/भण्डार, द्वितीय पुरस्कार सुरेन्द्र पाल निजी सचिव व तृतीय पुरस्कार रूचि उपाध्याय वरि. लिपिक वमंसुआ कार्यालय लखनऊ को, “निबन्ध प्रतियोगिता” का प्रथम पुरस्कार बृहमानन्द तिवारी, उपनिरीक्षक क्वाटर मास्टर रेसुब, द्वितीय पुरस्कार विरेन्द्र कुमार मिश्र, स्टेशन मास्टर बस्ती, तृतीय पुरस्कार रवि प्रताप सिंह वरि. लिपिक वाणिज्य गोरखपुर को तथा “हिन्दी टिप्पण एवं प्रारूप लेखन” में प्रथम पुरस्कार गोपाल कृष्ण धवन कार्याधी/भण्डार, द्वितीय पुरस्कार सुरेन्द्र पाल निजी सचिव एवं तृतीय स्थान ओमप्रकाश शर्मा कार्याधी/कार्मिक को प्रशस्ति पत्र व नगद पुरस्कार प्रदान किया।

राजभाषा अधिकारी एवं जनसम्पर्क अधिकारी महेश गुप्ता ने कार्यक्रम का संचालन किया तथा ‘राजभाषा पखवाड़ा- 2022’ के सफल आयोजन हेतु सभी के प्रति धन्यवाद व्यक्त किया। इस अवसर पर अपर मण्डल रेल प्रबन्धक (परिचालन) शिशिर सोमवंशी, मुख्य परियोजना प्रबन्धक/गतिशक्ति राघवेन्द्र कुमार एवं समस्त शाखा अधिकारीगण एवं कर्मचारी उपस्थित थे।

रिपोर्ट-दया शंकर चौधरी

About Samar Saleel

Check Also

पत्नी और प्रेमी द्वारा रची घातक साजिश का शिकार हुआ व्यक्ति, प्राकृतिक लग रही मौत

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें मुंबई में एक महिला को अपने पति के ...