Breaking News

बिहार का नाम लेते हुए SC ने कहा- जो किसान पराली जला रहे हैं, उन्हें एमएसपी का लाभ न दें.

नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण और पड़ोसी राज्यों में पराली जलाए जाने के मसले पर आज यानी मंगलवार को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई. पराली जलाए जाने पर सख्त टिप्पणी करते हुए सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब सरकार से कहा कि जो किसान पराली जला रहे हैं, उन्हें एमएसपी का लाभ नहीं मिलना चाहिए.

👉राम मंदिर प्राण प्रतिष्ठाः अयोध्या में बनाई जा रही 80 हजार श्रद्धालुओं के लिए ‘टेंट सिटी”

बिहार का नाम लेकर SC ने कहा- जो किसान पराली जला रहे उन्हें MSP का लाभ मत दो

सुनवाई से पहले पंजाब सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया और पंजाब सरकार ने कहा कि पराली जलाए जाने को लेकर 2 करोड़ हर्जाना वसूला गया है. पंजाब सरकार ने कहा पंजाब के 6 जिले में पूरी तरीके से पराली नहीं जलाया गया है.

इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि बच्चे और बीमार लोग प्रभावित हो रहे हैं और पराली जलाना बदस्तूर जारी है. जस्टिस संजय किशन कौल ने कहा कि ऐसी फसलों पर इमसेंटिव दिया जाए जिनके अपशिष्ट जलाने की जरूरत ना पड़े. इंसेंटिव एमएसपी जैसा हो.

👉भारत ऑस्ट्रेलिया के बीच हुई “टू प्लस टू” वार्ता, चुनौतियों से मिलकर निपटने पर बनी सहमति

इसके बाद पंजाब सरकार ने कहा कि हमने पराली जलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई की है और करीब 100 एफआईआर दर्ज किया है. इस पर जस्टिस कौल ने कहा कि कानून का उल्लंघन करने वाले लोगों को आर्थिक लाभ क्यों मिले?

सुप्रीम कोर्ट ने बड़ी टिप्पणी करते हुए कहा जो किसान पराली जला रहे हैं, उन्हें एमएसपी का लाभ नहीं मिलना चाहिए. कोर्ट ने आगे कहा कि जो लोग पराली जलाने का काम कर रहे हैं, उनके खिलाफ कार्रवाई की जानी चाहिए.

👉क्या कोरोना वैक्सीन लेने से सच में हुई थी लोगों की मौत? ICMR ने रिसर्च में किया बड़ा खुलासा

सुप्रीम कोर्ट ने पूछा कि जुर्माना केवल लगाया है? पंजाब सरकार ने कहा कि जुर्माना लगाया है और वसूला भी जा रहा है. सरकार की तरफ से जो मशीनें दी गई हैं, उस पर 80 फीसदी की सब्सिडी दी जा रही है. पंजाब सरकार ने कहा अन्य फसलों पर भी सब्सिडी दिए जाने की जरूरत है.

इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि एक समस्या यह है कि जो लोग पराली जला रहे हैं वे यहां नहीं आएंगे. बिहार में वे इसे अपने हाथों से काटते हैं. हम समझते हैं कि जिन लोगों के पास पर्याप्त जोत है, उनके पास मशीनीकृत कटाई के साधन हैं, लेकिन छोटी जोत वाले लोग पराली जलाने को लेकर संघर्ष कर रहे हैं.

About News Desk (P)

Check Also

भारत सरकार के ‘इन्स्पायर-मानक अवार्ड’ से सम्मानित हुए सीएमएस के तीन छात्र

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, राजेन्द्र नगर प्रथम कैम्पस के तीन मेधावी छात्रों दिव्यांश अग्रवाल, सूरज ...