Breaking News

डा. जगदीश गांधी की मार्मिक अपील, अफगानिस्तान में शान्ति व सुरक्षा के अन्तर्राष्ट्रीय प्रयासों का नेतृत्व करें प्रधानमंत्री

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल के संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने पत्र लिखकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से पुरजोर अपील की है कि वे अफगानिस्तान में शान्ति व सुरक्षा के लिए अन्तर्राष्ट्रीय प्रयासों का नेतृत्व करें। डा. गाँधी ने लिखा है कि अफगानिस्तान में इस समय लोकतन्त्र बुरी तरह से चरमरा गया है और नागरिकों के अधिकार सुरक्षित नहीं है। अतः विश्व के सबसे सफल व सबसे बड़े लोकतान्त्रिक देश के प्रधानमंत्री होने के नाते नरेन्द्र मोदी को अफगानिस्तान की पीड़ित व व्यथित मानवता को राहत पहुँचाने हेतु अन्तर्राष्ट्रीय समुदाय की अगुवाई करनी चाहिए। उक्त जानकारी सीएमएस के मुख्य जनसम्पर्क अधिकारी हरि ओम शर्मा ने दी है।


श्री शर्मा ने बताया कि डा. गाँधी ने पत्र में लिखा है कि भारत वर्तमान में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का अध्यक्ष है और अफगानिस्तान के मुद्दे पर आयोजित चर्चा-परिचर्चा की अध्यक्षता कर चुका है। प्रधानमंत्री मोदी के कुशल नेतृत्व व दृष्टिकोण से पूरा विश्व प्रभावित है। मुझे पूरा विश्वास है कि इस मुद्दे पर प्रधानमंत्री के नेतृत्व को हर देश से व्यापक समर्थन मिलेगा और यह सुनिश्चित हो सकेगा कि अफगानिस्तान के आम नागरिकों को राजनीतिक नेतृत्व में हिंसक परिवर्तन के कारण मानवाधिकार उल्लंघन की हिंसक यातना न सहनी पड़े।

डा. गाँधी ने अपील की है कि संयुक्त राष्ट्र की वीटो पावर प्रणाली अफगानिस्तान पर कार्रवाई के लिए एक सार्वभौमिक जनादेश के निर्माण के लिए अनुकूल नहीं है क्योंकि चीन के पास वीटो पावर है और वह वैश्विक आतंकवाद के केन्द्र पाकिस्तान के साथ मिलकर अफगानिस्तान में शान्ति व सुरक्षा की कार्यवाही पर वीटो पावर का इस्तेमाल कर सकता है। ऐसे में, प्रधानमंत्री मोदी को दुनिया के तमाम नेताओं की तत्काल बैठक बुलानी चाहिए। प्रधानमंत्री मोदी को अन्तर्राष्ट्रीय समुदाय का व्यापक समर्थन प्राप्त है और अफगानिस्तान के मुद्दे पर दुनिया के देशों से एकजुट होने के उनके आहवान को निश्चित रूप से बहुत गंभीरता से लिया जाएगा।

About Samar Saleel

Check Also

प्रदेश में शहर से लेकर गांव तक बह रही है विकास की गंगा : सांसद

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें औरैया। प्रदेश सरकार के साढ़े चार वर्ष पूर्ण होने ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *