Breaking News

हेमंत सोरेन ने झारखंड के 11 वें मुख्यमंत्री के रूप में ली शपथ, समारोह में कई नेता हुए शामिल

रांची के मोहराबादी मैदान में आज झारखंड सरकार के गठन का कार्यक्रम रखा गया। जिसमें झारखंड के 11 वें मुख्यमंत्री के तौर पर हेमंत सोरेन ने शपथ ग्रहण किया। हेमंत सोरेन की पार्टी झामुमो कांग्रेस और राजद के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन कर मैदान में उतरी थी और भाजपा को मात देकर इस गठबंधन ने राज्य के चुनाव में बहुमत हासिल किया।

हेमंत सोरेन ने दूसरी बार राज्य के मुख्यमंत्री के तौर पर शपथ ग्रहण किया है। इससे पहले 2013 में भी हेमंत सोरेन राज्य के मुख्यमंत्री के तौर पर अपनी जिम्मेवारी निभा चुके हैं।

राज्यपाल द्रोपदी मुर्मू ने हेमंत सोरेन को मुख्यमंत्री पद की शपथ दिलाई। हेमंत सोरेन के अलावा कांग्रेस के विधायक आलमगीर आलम, रामेश्वर उरांव और आरजेडी विधायक सत्यानंद भोक्ता ने हेमंत सोरेन के साथ मंत्री पद की शपथ ली।

पाकुड़ से कांग्रेस के विधायक आलमगीर आलम ने हेमंत सरकार कैबिनेट में मंत्रीपद की शपथ ली। आलमगीर आलम झारखंड के स्पीकर भी रह चुके हैं।

शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए वामपंथी नेता सीताराम येचुरी, डी राजा और अतुल अंजान भी मोरहाबादी मैदान पहुंचे। इसके अलावा शरद यादव भी रांची पहुंचे। वहीं राहुल गांधी भी मोरहाबादी मैदान में मंच पर नजर आए।

उत्तर प्रदेश के पूर्व सीएम अखिलेश यादव और बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव भी कांग्रेस नेता आरपीएन सिंह के साथ मंच पर मौजूद थे। वहीं शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कल ही रांची पहुंच गई थीं।

डीएमके के कई वरिष्ठ नेता भी हेमंत सोरेन के शपथग्रहण में शामिल होने के लिए रांची पहुंचे। डीएमके अध्यक्ष एमके स्टालिन खुद रांची पहुंचे। इसके अलावा सांसद टीआर बालू और सांसद कनिमोझी भी रांची पहुंची हैं।

इसके अलावा राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल भी रांची पहुंचे तो वहीं असम के पूर्व सीएम तरूण गोगोई भी रांची पहुंचे। वहीं आम आदमी पार्टी के सांसद संजय सिंह भी हेमंत सोरेन के शपथ ग्रहण में शामिल होने रांची पहुंच गए।

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी के नेता शरद पवार रांची नहीं आ रहे हैं। उन्होंने ट्वीट कर कहा है कि वे रांची नहीं आ पा रहे हैं, उन्होंने हेमंंत सरकार को शुभकामनाएं दी है।

पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने स्वास्थ्य कारणों से रांची आने में असमर्थता जाहिर की है। हेमंत सोरेन ने उन्हें भी न्यौता दिया था। प्रणब मुखर्जी ने झारखंड की नई सरकार को बधाई दी है और कहा है कि उन्हें जिस काम के लिए जनमत मिला है उसे वे पूरा करेंगे।

शपथ ग्रहण समारोह को लेकर राजधानी रांची में सुरक्षा के व्यापक इंतजाम किए गए थे। सुरक्षा में कोई चूक न हो, इसका पूरा ख्याल रखा जा रहा था। शपथ ग्रहण समारोह तथा दूसरे राज्यों से आने वाले अतिथियों की सुरक्षा में 2500 जवान, 500 अधिकारी तथा दर्जनभर आइपीएस अधिकारी लगाए गए थे। सुरक्षा की ओवर ऑल जिम्मेदारी रांची जोन के आइजी नवीन कुमार सिंह को सौंपी गई थी।

About Aditya Jaiswal

Check Also

100 बड़े शहरों में जल आपूर्ति और अपशिष्ट प्रबंधन को बढ़ावा देगी केंद्र, जानें क्या कुछ खास

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने नरेंद्र मोदी की अगुवाई में गठित नई सरकार का पहला ...