Breaking News

उत्तर प्रदेश में बस कुछ ही देर में खत्म होंगे जिला पंचायत के चुनाव, 116 उम्मीदवार का तय होगा भाग्य

उत्तर प्रदेश में आज जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में वोट डाले जा रहे हैं. प्रदेश के 75 जिलों में से 22 में निर्विरोध चुनाव होने के बाद अब बचे 53 जिलों में जिला पंचायत सदस्य अपने जिले का अध्यक्ष चुनने के लिए मतदान कर रहे हैं.

जिला पंचायत अध्यक्ष की 53 जिलों में कुल 116 उम्मीदवार मैदान में हैं। इनमें 46 सीटें ऐसी हैं जिनमें दो-दो उम्मीदवार होने के कारण सीधा मुकाबला होगा। इनमें ज्यादातर सीटें ऐसी हैं जिनमें भाजपा व सपा के उम्मीदवार आमने-सामने हैं।

राज्य में डेढ़ दशक बाद पूर्ण बहुमत से सत्ता में आई बीजेपी ने करीब दो साल तक पंचायत चुनाव की तैयारी की. ऐसे में उसके सामने सपा का पिछला रिकॉर्ड तोड़ने की चुनौती है.

75 जिलों में से 22 के जिला पंचायत अध्यक्ष निर्विरोध निर्वाचित हो गए हैं। 29 जून को नाम वापसी की अवधि गुजरते ही सभी के चुने जाने की घोषणा कर दी गई। निर्विरोध चुने गए अध्यक्षों में जहां 21 भाजपा के हैं वहीं एक मात्र इटावा के जिला पंचायत अध्यक्ष की कुर्सी ही सपा के हाथ लगी है।

चार सीटों पर त्रिकोणीय चुनाव होगा जबकि तीन सीटें ऐसी हैं जिनमें चार-चार उम्मीदवार चुनाव मैदान डटे हैं। चुनाव को लेकर भाजपा और सपा में रस्साकशी अपने चरम पर पहुंच चुकी है।

उधर समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी पंचायत चुनाव की कमान अपने हांथों में ले रखी है. करीब 40 सीटों से अधिक सीटों पर बीजेपी-सपा के बीच सीधा मुकाबला दिख रहा है. अपने कई प्रत्याशियों के दूसरे पाले में चले जाने के बावजूद सपा इस जंग में पीछे नहीं रहना चाहती है. अब बाकी जगह वह मजबूती से टक्कर देने में जुटी है.

About News Room lko

Check Also

बुढ़ापा जीवन का सत्य है, बच्चे अपने बूढ़े माता-पिता को सहारा बने: राज्यपाल

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें औरैया। उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनन्दीवेन पटेल ने ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *