Breaking News

भारत ने की चीन कंपनियों की कमर तोड़ने की तैयारी, मोबाइल से लेकर एलईडी लाइट्स पर बढ़ाई भारी कस्टम ड्यूटी

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने साल 2021-22 का बजट पेश किया है। लेकिन यह बजट आम जनता के लिए कुछ खास नहीं रहा, बजट में आम जनता को निराशा ही हाथ लगी है। बजट 2021 में वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण नें कई अहम घोषणाएं की हैं,वित्त मंत्री सीतारमण ने कई सारी चीजों पर कस्टम ड्यूटी बढ़ा दी है। जिसकी वजह से आम जनता की जेब पर भारी असर देखने को मिलेगा।

इस बार का आम बजट गर्मी के मौसम में आपकी जेब पर बहुत भारी पड़ने वाले है, क्योंकि इस बजट में सरकार ने मोबाइल उपकरणों पर कस्टम ड्यूटी (customs duty Hike) 2.5 फीसदी बढ़ाने का ऐलान किया है। इस बजट को देखने और सुनने के बाद लोगों को अभी से ही पसीने छूटने लगे हैं, लोग यह सोचने पर मजबूर हो रहे हैं कि उन्हें भीषण गर्मी से कैसे छुटकारा मिलेगा?

आपको बता दें कि इस आम बजट के दौरान फ्रिज/एसी के कंप्रेसर पर कस्टम ड्यूटी 12.5 फीसदी से बढाकर 15 फीसदी कर दी गई है। वहीं एलईडी लाइट्स की बात करें इसपर कस्टम ड्यूटी 5 फीसदी से बढाकर 10 फीसदी कर दी है। एलईडी लाइट्स की जरूरत घरों में सबसे ज्यादा होती है, इसके बिना लोगों का रहना संभव नहीं है। सोलर इन्वर्टर पर कस्टम ड्यूटी 5 फीसदी से बढ़ाकर 20 फीसदी कर दी गई है। मोबाइल के कुछ कंपोनेंट्स पर कस्टम ड्यूटी 0 से बढ़ाकर 2.5 फीसदी कर दी गई है। केबल्स पर कस्टम ड्यूटी 7.5 फीसदी से 10 फीसदी कर दी गई है।

Loading...

स्वदेशी डिवाइस को तेज रफ्तार से आगे बढ़ाने पर फोकस

चाहे एसी, फ्रीज का कंप्रेशर हो, एलईडी लाइट्स के पार्ट्स हों मोदी सरकार ने सब पर कस्टम ड्यूटी बढ़ा दी है। यानी विदेश से आने वाले सभी सामान महंगे हो जाएंगे। अब ऐसा अनुमान जताया जा रहा है कि चीन निर्मित अब स्मार्टफोन भारत में पहले से ज्यादा महंगे हो सकते है। वहीं दूसरी तरफ से भारत में तैयार किये जाने वाले स्मार्टफोन की कीमत स्थिर रहेगी। अब बाहर के महंगे प्रॉडक्ट की बजाय स्वदेशी प्रॉडक्ट पर लोग ज्यादा ध्यान देंगे। इस बजट को देखते हुए कहा जा सकता है कि ऐसा करने के पीछे सरकार का यही मकसद है कि देश की पूंजी देश में ही रहे, बाहर न जाये।

Loading...

About Ankit Singh

Check Also

6000mAh बैटरी के साथ Samsung Galaxy M12 भारत में 11 मार्च को मचाएगा तहलका, जानें कीमत

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें साउथ कोरिया की बड़ी टेक कंपनियों में शुमार ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *