Breaking News

हिमस्खलन से 30 की मौत

भूकंप से पीड़ित मध्य इटली में हिमस्खलन की चपेट में एक होटल में करीब 30 लोग मारे गए हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार
होटल रेसोपियानो बर्फ की दो मीटर ऊंची दीवार के नीचे दब गया है और आपात सेवाकर्मी घटनास्थल तक एम्बुलेंस को ले जाने और वहां से बर्फ हटाने में मशक्कत कर रहे हैं। एजेंसी ने बताया कि ग्रान सासो पहाड़ी की पूर्वी ढलान पर स्थित इस छोटे से होटल रेसोपियानो में कम से कम 30 मेहमान और स्टाफ के लोग थे। उसी समय इस इलाके में बुधवार सुबह चार शक्तिशाली भूकंपों में से पहला भूकंप आया था।
स्थानीय मीडिया ने बताया कि विशेष पहाड़ पुलिस स्की और हेलिकाप्टर के जरिए घटनास्थल तक पहुंच गयी है तथा शवों को निकालने का काम शुरू कर दिया गया है। उन्होंने साथ ही बताया कि होटल की इमारत के भीतर किसी के जिंदा बचे होने का कोई संकेत नहीं है जो बर्फ के दबाव में करीब दस मीटर खिसक गई है। अल्पाइन पुलिस हिमस्खलन में दबे इस होटल तक पहुंचने की कोशिश कर रही है। होटल में बचावकर्मियों के पास स्नो मोबाइल हैं जो एक बार में आठ लोगों को ले जाने में सक्षम है।
एजेंसी के अनुसार एम्बुलेंसों को करीब नौ किलोमीटर पहले दो मीटर ऊंची बर्फ की दीवार ने रोक दिया। पेसकारा प्रांत के अध्यक्ष एंतोनियो डी मार्को ने बताया कि दो लोग जिंदा पाए गए हैं। इसी प्रांत में फारिंदोला गांव है और होटल इसी गांव के समीप स्थित था। उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर लिखा, श्श्हमें अभी यह नहीं पता कि कितने लोग मारे गए हैं और कितने जिंदा हैं। लेकिन एक बात पक्की है कि इमारत सीधे हिमस्खलन की चपेट में आ गयी और यह इतना भयंकर था कि होटल दस मीटर दूर खिसक गया।’’ अभी यह स्पष्ट नहीं हुआ है कि जिंदा पाए गए लोग होटल में थे या वे वहां स्कीइंग कर रहे थे। उनमें से एक को हेलिकाप्टर से पेसकारा में एक अस्पताल में ले जाया गया है लेकिन उसकी हालत खतरे से बाहर है।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

कोरोना इफेक्ट: ब्रिटिश प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन के भारत दौरे की अवधि हुई कम

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने अप्रैल माह ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *