Breaking News

नाका हिंडोला गुरुद्वारा में मनाया गया ज्येष्ठ माह संक्रान्ति पर्व

“जैसे एक कमजोर बेल किसी बडे़ पेड़ के सहारे ऊँची उठ जाती है ऐसे ही बहुत से कमजोर व्यक्ति ‘वाहेगुरू’ का जाप (सिमरन) करके ताकतवर व धनवान हो जाते हैं।”

लखनऊ। ऐतिहासिक गुरूद्वारा गुरू नानक देव जी श्री गुरू सिंह सभा, नाका हिंडोला लखनऊ में 14 मई को ज्येष्ठ माह संक्रान्ति पर्व समागम बड़ी श्रद्धा एवं सत्कार के साथ मनाया गया।

नाका हिंडोला गुरुद्वारा में मनाया गया ज्येष्ठ माह संक्रान्ति पर्व

सायं का दीवान 6.30 बजे रहिरास साहिब जी के पाठ से प्रारम्भ हुआ जो 9.30 बजे तक चला जिसमें रागी जत्था भाई राजिन्दर सिंह जी ने अपनी मधुरवाणी में-

“हरि जेठ जुड़ंदा लोड़ीअै जिस अगै सभि निवंनि।।
हरि सजण दावणि लगिआ किसै न देई बंनि ।।”

शबद कीर्तन गायन कर संगत को निहाल किया। मुख्य ग्रन्थी ज्ञानी सुखदेव सिंह ने ज्येष्ठ माह संक्रान्ति पर्व पर प्रकाश डालते हुए कहा कि श्री गुरू अर्जुन देव जी कहते हैं, इस माह में हमें परमपिता परमात्मा से जुड़ना चाहिये क्योंकि वह ही सर्वश्रेष्ठ है, सबसे ऊँचा है, उसी के आगे सभी सिर झुकाते हैं। उस प्रभु के आगे किसी की नहीं चलती, उसी का हुकुम सभी को मान्य होता है, वही जन्म देता है, वही मृत्यु देता है, वही सुख देता है, वही दुःख देता है। इसलिये सुख की प्राप्ति के लिये हमें प्रभु की आराधना करनी चाहिये। जैसे एक कमजोर बेल किसी बडे़ पेड़ के सहारे ऊँची उठ जाती है ऐसे ही बहुत से कमजोर व्यक्ति ‘वाहेगुरू’ का जाप (सिमरन) करके ताकतवर व धनवान हो जाते हैं।

सिमरन साधना परिवार के बच्चों ने भी इस कार्यक्रम में शबद कीर्तन गायन किया। दीवान की समाप्ति के उपरान्त ऐतिहासिक गुरूद्वारा श्री गुरू नानक देव जी के अध्यक्ष स0 राजेन्द्र सिंह बग्गा जी ने आई साध संगतों को ज्येष्ठ माह संक्रान्ति पर्व की बधाई दी। कार्यक्रम का संचालन स0 सतपाल सिंह ‘‘मीत’’ ने किया। उसके उपरान्त गुरू का लंगर श्रद्धालुओं में वितरित किया गया।

गुरु अमरदास जी महाराज का प्रकाश उत्सव 15 मई को

सिखों के तीसरे गुरु श्री गुरु अमरदास जी महाराज का प्रकाश उत्सव 15 मई को सायं 6.30 बजे से 10.00 बजे तक गुरुद्वारा साहिब में बड़ी श्रद्धा एवं हर्षोल्लास के साथ मनाया जायेगा, जिसमें रागी जत्था भाई दिलबाग सिंह शबद कीर्तन गायन कर संगत को निहाल करेंगे। रागी जत्था भाई राजिन्दर सिंह कीर्तन एवं नाम सिमरन तथा ज्ञानी सुखदेव सिंह कथा व्याख्यान करेंगे आरती एवं श्री गुरू ग्रंथ साहिब जी पर फूलों की वर्षा की जाएगी। समाप्ति के उपरान्त गुरु का लंगर वितरित किया जायेगा।

रिपोर्ट – दया शंकर चौधरी

About reporter

Check Also

पोषण पाठशाला 26 मई को : छह माह तक पानी नहीं केवल स्तनपान का दिया जाएगा संदेश

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Monday, May 23, 2022 औरैया। बाल ...