Breaking News

औरैया: राष्ट्रीय लोक अदालत में सर्वाधिक 6289 मामले हुए निस्तारित

औरैया। जिले में शनिवार को जनपद न्यायाधीश अनिल कुमार वर्मा की अध्यक्षता में जनपद न्यायालय औरैया एवं बाह्य न्यायालय बिधूना तथा जनपद औरैया के विभिन्न राजस्व न्यायालयों में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया, इस मौके पर राष्ट्रीय लोक अदालत में कुल 6289 मुकदमें निस्तारित किए गए। इस दौरान करीब 1,59,72,849 रुपए अर्थ दंड भी वसूला गया।

जनपद न्यायाधीश अनिल कुमार वर्मा ने बताया कि इस लोक अदालत में सर्वाधिक मामले निस्तारित किए गए इससे पहले आयोजित किसी भी लोक अदालत में इतने मामले निस्तारित नहीं किए गए थे। आज की लोक अदालत ने पुराने सभी रिकॉर्ड तोड़ दिए। साथ ही उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार की मंशा है कि गरीब से गरीब व्यक्ति को न्याय मिले, उसको कोर्ट कचहरी के ज्यादा चक्कर न काटने पड़े इस उद्देश्य से राष्ट्रीय लोक आदालत का आयोजन कर जनता की लम्बे समय से चले आ रहे मुकदमों का निस्तारण शीघ्र कर उन्हें न्याय मिले। सरकार चाहती है, जनता का समय, पैसे की बचत के साथ ही न्याय सभी एक जगह पर सुलभ तरीके से प्राप्त हो, यही सरकार की मंशा है। ऐसे आयोजन कर जनता के प्रति न्याय दिलाने की अच्छी पहल है। उन्होंने वहां उपस्थित फरयादियों की समस्याओं को सुना और सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे गुणवत्तापूर्ण मुकदमों का निस्तारण कर न्याय दिलाये।

जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सचिव दिवाकर कुमार ने बताया कि औरैया में जनपद न्यायाधीश अनिल कुमार वर्मा की अध्यक्षता में आयोजित राष्ट्रीय लोक अदालत में विभिन्न न्यायालयों में 3360 मुकदमा तय किए गए। जनपद न्यायाधीश द्वारा 12 वादों का निस्तारण किया गया। मोटर दुर्घटना दावा अधिकरण अध्यक्ष मंजीत सिंह ने कुल 80 क्लेम तय कर पीड़ितों को 1,15,95,000 रुपए का प्रतिकर अवार्ड दिया। प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय रनन्जय कुमार वर्मा ने 103 वाद तय किए।

स्थाई लोक अदालत के अध्यक्ष ए.के. उपाध्याय द्वारा कुल 2 वाद, अपर जिला जज प्रथम राजेश चौधरी के द्वारा 14 वाद, विशेष न्यायाधीश एससीएसटी एक्ट मीनू शर्मा द्वारा 4 वाद, विशेष न्यायाधीश पाक्सो स्वप्ना सिंह द्वारा 4 वाद, सुनील कुमार सिंह अपर जिला जज एफटीसी द्वितीय द्वारा विद्युत के 457 वाद, जीवक कुमार सिंह मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा 1038 वाद, शिवांगी त्यागी सिविल जज द्वारा 22 वाद, मेहर जहां सिविल जज द्वारा 233 वाद, प्रियल शर्मा न्यायिक मजिस्ट्रेट द्वारा 123 बाद, दूरस्थ न्यायालय बिधूना में तैनात सुरमिश्री गुप्ता सिविल जज द्वारा 212 बाद एवं नेपाल सिंह अपर सिविल जज बिधूना जिला औरैया द्वारा 835 वाद, राजस्व विभाग द्वारा 2923 वाद, बैंक रिकवरी के कुल 201 मामले निस्तारित किए गए हैं। इस मौके पर जिला जजी के सभी अधिकारी गण के साथ-साथ प्रधान न्यायाधीश परिवार न्यायालय एवं अध्यक्ष स्थाई लोक अदालत एवं बार के पदाधिकारी गण उपस्थित रहे।

शिव प्रताप सिंह सेंगर

About Samar Saleel

Check Also

पोषण पाठशाला 26 मई को : छह माह तक पानी नहीं केवल स्तनपान का दिया जाएगा संदेश

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Monday, May 23, 2022 औरैया। बाल ...