Breaking News

मिस्बाह उल हक ने PCB को लेकर किया बड़ा खुलासा, कहा- कोई काम नहीं करना चाहता

पाकिस्तान के पूर्व कप्तान मिस्बाह उल हक ने पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की अनिश्चितता और अदूरदर्शिता को लेकर चिंता जताई है। उनका मानना है कि इस तरह से कोई भी विदेशी या स्वदेशी कोच बोर्ड के साथ काम नहीं करना चाहेगा। मिस्बाह ने बताया कि पाकिस्तान के कई खिलाड़ियों और कोच को एक या दो सीरीज के बाद बदलाव का सामना करना पड़ता है। इसका सबसे बड़ा कारण टॉप मैनेजमेंट में अचानक होने वाला बदलाव है।

पूर्व हेड कोच और पाकिस्तान टीम की चयन समिति के चीफ सेलेक्टर रह चुके मिस्बाह ने बताया कि पीसीबी की नीतियों के कारण कोई भी कोच (विदेशी या लोकल) काम नहीं करना चाहेगा। उन्होंने कहा, “प विदेशी कोचों को तो छोड़िए बोर्ड की नीतियों को देखो तो मुझे नहीं लगता कि हमारे स्थानीय कोच भी पीसीबी के साथ काम करना चाहते हैं।“

बोर्ड में बदलाव से टीम मेंबर्स में होने लगता है बदलाव
बता दें कि मिस्बाह फिलहाल हैदराबाद टीम को कोचिंग दे रहे हैं। इस टीम ने सिंध प्रीमियर लीग के लिए क्वालीफाई कर लिया है। मिस्बाह ने बताया कि बोर्ड नेतृत्व में अचानक बदलाव के बाद खिलाड़ियों और कोचिंग स्टाफ में भी बदलाव होने लगता है। उन्होंने कहा, “पाकिस्तान क्रिकेट को इस तरह से अव्यवस्थित तरीके से नहीं चलाया जाना चाहिए और हमें टीम प्रबंधन, चयनकर्ताओं और खिलाड़ियों को तैयार करने के लिए दीर्घकालिक योजनाएं बनाने की जरूरत है। दुर्भाग्य से पाकिस्तान में बोर्ड नेतृत्व में बदलाव से सब कुछ बदल जाता है।“

बोर्ड नेतृत्व में अचानक होने वाले बदलाव से खिलाड़ियों में आत्मविश्वास की कमी आती है। उन्हें टीम में अपनी जगह को लेकर संशय होने लगता है। मिस्बाह का मानना है कि एक अच्छी टीम तैयार करने के लिए बोर्ड को अपनी इन खामियों में सुधार की जरुरत है। उन्होंने कहा, “मेरा मानना है कि अगर आपको इस प्रक्रिया के लिए उचित समय नहीं दिया गया तो आप अच्छी टीम नहीं बना सकते या अच्छे खिलाड़ी तैयार नहीं कर सकते। हमें कुछ अन्य देशों की प्रणालियों को देखने की जरूरत है जो सफल हैं।“

अलग-अलग फॉर्मेट में होने चाहिए अलग-अलग कप्तान
पाकिस्तान के लिए 75 टेस्ट, 162 वनडे और 39 टी20 इंटरनेशनल मैच खेलने वाले पूर्व मिडिल ऑर्डर बल्लेबाज ने क्रिकेट के अलग-अलग फॉर्मेट में विभिन्न कप्तानों को लेकर कोई आपत्ति नहीं जताई है। उनका मानना है कि पाकिस्तान टीम को टी20 विश्व कप 2024 से पहले उचित प्रशिक्षण मिलना चाहिए। इसके अलावा उनका कहना है कि पाकिस्तान की टीम वेस्टइंडीज और अमेरिका की मेजबानी में होने जा रहे विश्व कप 2024 में सबसे घातक टीम साबित होगी। मिस्बाह ने कहा, “मुझे लगता है कि आप प्रारूप की जरूरत के हिसाब से सर्वश्रेष्ठ कप्तान चुन सकते हो। हमारे खिलाड़ी वेस्टइंडीज की परिस्थितियों के भी आदी हैं इसलिए हमें दौड़ में सबसे आगे होना चाहिए।“

About News Desk (P)

Check Also

आईओए का बड़ा फैसला, ओलंपिक जाने वाले पहलवानों को देगा सहयोग, विनेश की मांग भी स्वीकारी

ओलंपिक जाने वाले देश के छह पहलवानों को सहायता देने पर भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ...