Breaking News

फाइलेरिया पीड़ितों को चिन्हित करने के लिए हुआ नाईट ब्लड सर्वे

फाइलेरिया का नहीं है कोई इलाज इसलिये दवा का सेवन ज़रूरी

कानपुर। फाइलेरिया रोग उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत जिले में शुक्रवार की रात ब्लॉक कल्याणपुर के सचेंडी गाँव में सघन सर्वे अभियान चलाया गया। इस अभियान के तहत फाइलेरिया रोग प्रसार के लिहाज से संवेदनशील गांवों में फाइलेरिया के लक्षणों वाले रोगियों को चिन्हित किया जाएगा। इस दौरान स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा लोगों से अपील भी की गयी कि फाइलेरिया के लक्षण होने पर इस रोग को छिपाएं नहीं बल्कि इलाज कराएं। इलाज कराने से फाइलेरिया का समय रहते इलाज किया जा सकता है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. नैपाल सिंह ने बताया कि जिले में फाइलेरिया नियंत्रण की दिशा में स्वास्थ्य विभाग हर संभव प्रयास कर रहा हैं। इन दिनों संवेदनशील क्षेत्रों में नाईट ब्लड सर्वेक्षण जारी है। मैं अपील करूंगा कि स्वास्थ्य विभाग की टीम का सहयोग करें। उन्होंने बताया कि फाइलेरिया मच्छर के काटने से फैलता है इसलिए बेहतर है कि मच्छरों से बचाव किया जाए। इसके लिए घर के आसपास व भीतर साफ सफाई रखें। पानी जमा न होने दें और समय-समय पर कीटनाशक का छिड़काव करें। फाइलेरिया विकलांगता बढ़ाने के साथ ही मरीज की मानसिक स्थिति पर भी बुरा असर डालती है।

जिला मलेरिया अधिकारी एके सिंह ने बताया की फाइलेरिया रोग के प्रसार के मद्देनजर सचेंडी में फाईलेरिया क्लस्टर समूह के सदस्यों की मांग पर रेंडम साइट नाईट ब्लड सर्वे किया गया । जिसमें इस फोरम के सदस्य राम सनेही, कैलाशी देवी, कृष्णा देवी और अच्छे लाल ने प्रमुख रूप से सहयोग किया। सर्वे में किसी व्यक्ति को फाइलेरिया पाजिटिव पाए जाने की स्थिति में उसका समुचित उपचार करने का प्रयास किया जाएगा। इससे पहले भी फाइलेरिया उन्मूलन का प्रयास करते हुए जिले में फाइलेरिया के सभी पुराने मरीजों को फाइलेरिया किट वितरित किया गया है। साथ ही पीड़ितों को फाइलेरिया किट के उपयोग एवं रोग व विकृति के कारण आने वाली अपंगता की रोकथाम तथा प्रबंधन की जानकारी दी गई है।

इस संबंध में मलेरिया विभाग से सर्वे करने गए लैब टेक्निशन दीपू शेंघर और गणेश शंकर शंखवार ने बताया जिला मलेरिया अधिकारी के मार्गदर्शन में स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा फाइलेरिया संभावित क्षेत्र में वर्तमान में रात्रि 8.30 बजे से रात्रि 12 बजे तक नाईट ब्लड सर्वे किया जा रहा है। इसके अंतर्गत 2 वर्ष से अधिक आयु के सभी व्यक्तियों का रक्त पट्टी संग्रहण किया जा रहा है। वर्तमान में कोविड.19 संक्रमण से बचाव हेतु आवश्यक व अनिवार्य नियमों का पालन करते हुए यह सर्वे किया जा रहा है।

रिपोर्ट-शिव प्रताप सिंह सेंगर 

About Samar Saleel

Check Also

नगुआमऊ कला गांव में चिकित्सा शिविर का आयोजन

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Sunday, June 26, 2022 लखनऊ। एमरन ...