प्रथम संरक्षा महासम्मेलन : समापन दिवस के अवसर पर मण्डल रेल प्रबन्धक ने किये पुरस्कार व प्रशस्ति पत्र वितरित

लखनऊ। पूर्वाेत्तर रेलवे लखनऊ मण्डल में चल रहे प्रथम ’संरक्षा महासम्मेलन’ के समापन दिवस के अवसर पर 14 जुलाई को मण्डल रेल प्रबन्धक डा. मोनिका अग्निहोत्री तथा अपर मण्डल रेल प्रबन्धक (परिचालन) शिशिर सोमवंशी, अपर मण्डल रेल प्रबन्धक (इंफ्रा) संजय यादव एवं अपर मण्डल रेल प्रबन्धक (प्रशासन) राघवेन्द्र कुमार की उपस्थिति में विभिन्न कार्यक्रम आयोजित किये गये।

इस अवसर पर मण्डल रेल प्रबन्धक ने कहा कि संरक्षा सर्वोपरि है। हमें संरक्षा को अपने जीवन की दिनचर्या तथा कार्यशैली में शामिल करना होगा। अनुशासन, कर्मठता, सजगता एवं तत्परता संरक्षा के प्रमुख कारक है। टीम वर्क से संरक्षा और मजबूत होती है। इस महासम्मेलन की विशेषता यह थी कि यह आयोजन पारस्परिक चर्चा एवं सहभागिता पर आधारित था।

उन्होने कहा कि संरक्षा महासम्मेलन में भाग लेने वाले रेलकर्मियों ने जो ज्ञान व अनुभव प्राप्त किया है, उसे अपने स्टेशनों व कार्यस्थलों पर सह कर्मियों के साथ साझा करें। अपने कार्य को प्राथमिकता दें। मण्डल के सभी विभागों ने उचित समन्वय के साथ संरक्षा महासम्मेलन को सफल बनाने में सहयोग प्रदान किया है। महासम्मेलन के दौरान आयोजित की गयी सभी प्रतियोगिताओं के विजेताओं तथा प्रतिभागियों को मंरेप्र ने बधाई दी।

इसके पश्चात पूर्वोत्तर रेलवे के प्रमुख मुख्य यांर्त्रिक इंजीनियर एम.के. अग्रवाल ने कहा कि देशहित के लिए संरक्षा सर्वोपरि है। रेल संरक्षा में किसी भी प्रकार का समझौता किसी भी स्तर पर स्वीकार्य नही है। संरक्षित ट्रेन परिचालन हेतु कोड एवं मैनुअल के नियमों का गंभीरता से पालन करने के निर्देश दिए। उन्होने संरक्षा के प्रति जागरुकता बनाए रखने हेतु विशेष रूप से रेलपथों एवं कार्यस्थलों पर कार्यरत अन्तिम कर्मचारी तक संरक्षा ज्ञान की आवश्यकता पर विशेष बल दिया।

कार्यक्रम में ’एहसास फाउंडेशन’ की संरक्षिका शची सिंह ने ’तनाव प्रबन्धन’ (Stress Management) विषय पर अपना व्याख्यान दिया। उन्होने कहा कि आप स्वयं को योग, ध्यान, देशाटन, खेलकूद एवं परिवारिजनों तथा मित्रों के साथ समय व्यतीत करके मानसिक एवं शारीरिक रूप से स्वस्थ रह सकते है। मुख्य चिकित्सा अधीक्षक/बादशाहनगर द्वारा ’पर्सनल हेल्थ मैनेजमेंट’ एवं विशेषज्ञों द्वार फायर सरंक्षा विषयों पर पावर प्वाइंट के माध्यम से प्रस्तुतीकरण किया गया। वरिष्ठ मण्डल सिगनल एवं दूरसंचार इंजीनियर सत्यदेव पाठक द्वारा रचित विभिन्न विभागों के ’रेल संरक्षा गीतों’ का विमोचन मण्डल रेल प्रबन्धक द्वारा किया गया। इस अवसर पर मण्डल कला समिति के कलाकारों द्वारा संरक्षा गीतों को प्रस्तुत किया।

अन्त में मण्डल रेल प्रबन्धक ने ’संरक्षा महासम्मेलन’ के दौरान आयोजित सर्वाधिक प्रतियोगिताओं में विजयी परिचालन विभाग को सर्वागीण विजेता ’शील्ड’ तथा ’र्याॅत्रिक (कैरेज एण्ड वैगन) विभाग को उपविजेता शील्ड प्रदान किया तथा संरक्षा कार्यशालाओं, संरक्षा परामर्शदाताओं तथा नुक्कड़ नाटक के कलाकारों, संरक्षा स्लोगन, संरक्षा क्विज, संरक्षा निबन्ध, बेस्ट सेफ्टी विडियों एवं पोस्टर मेंकिंग प्रतियोगिताओं के विजेताओं को पुरस्कार एवं प्रशस्ति पत्र प्रदान किये गये।

वरिष्ठ मण्डल संरक्षा अधिकारी शेख एस रहमान ने कार्यक्रम का संचालन किया तथा अपर मण्डल रेल प्रबन्धक (इंफ्रा) संजय यादव ने ’सरंक्षा महासम्मेलन’ को सफल बनाने में मण्डल रेल प्रबन्धक एवं सभी रेलकर्मियों के प्रति धन्यवाद व्यक्त किया।

रिपोर्ट – दयाशंकर चौधरी

About reporter

Check Also

शस्त्र फैक्ट्री का हुआ भंडाफोड़, असलहा-कारतूस व उपकरण समेत दो व्यक्ति गिरफ्तार

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें बिधूना। तहसील क्षेत्र के थाना ऐरवाकटरा पुलिस ने ...