Breaking News

चार साल के अंतराल के बाद आयोजन, CM शिवराज सिंह ने किया पीएम मोदी का स्वागत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी इंदौर में आयोजित प्रवासी भारतीय सम्मेलन में आज शामिल होंगे। पीएम मोदी इंदौर पहुंच चुके हैं। एयरपोर्ट पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा समेत अन्य ने पीएम मोदी का स्वागत किया। पीएम मोदी ने ट्वीट किया, “प्रवासी भारतीय दिवस मनाने के लिए 9 जनवरी को इंदौर जा रहा हूं। यह हमारे प्रवासी भारतीयों के साथ जुड़ाव को गहरा करने का एक शानदार अवसर है।”

2024 से पहले ये आखरी पूर्ण बजट, नितिन गडकरी की तरफ से हुआ ये अहम ऐलान

बताया जा रहा है कि इस दौरान पीएम करीब चार से पांच घंटे इंदौर में रहेंगे, जहां वह प्रवासी भारतीय सम्मेलन में शामिल होने पहुंचे दो देशों के राष्ट्रपति का स्वागत करेंगे। पीएम मोदी इंदौर में सूरीनाम के राष्ट्रपति चंद्रिका प्रसाद संतोखी और गुयाना के राष्ट्रपति मोहम्मद इरफान अली का स्वागत करेंगे, इसके अलावा गेस्ट ऑफ ऑनर ऑस्ट्रेलिया हाउस ऑफ पार्लियामेंट की सदस्य जेनेटा मेस्क्रेन्हेन्स से भी पीएम मोदी मिलेंगे।

  • देश का सबसे स्वच्छ शहर इंदौर 17वें प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन के रूप में जश्न के मूड में है। इस कार्यक्रम में आज पीएम नरेंद्र मोदी भी शामिल होंगे।

कोरोना महामारी की शुरुआत के बाद पहली बार चार साल के अंतराल पर प्रवासी भारतीय दिवस का आयोजन किया जा रहा है। रविवार को इस तीन दिवसीय प्रवासी भारतीय सम्मेलन की शुरुआत हुई। ये सम्मेलन सरकार को प्रवासी भारतीयों से जुड़ने और डायस्पोरा में संवाद और विचारों के आदान-प्रदान के लिए एक मंच देता है।

इस साल सम्मेलन का विषय ‘प्रवासी: अमृत काल में भारत की प्रगति के लिए विश्वसनीय भागीदार’ है। बता दें कि 70 देशों के 3,500 से अधिक सदस्यों ने प्रवासी भारतीय सम्मेलन (पीबीडी) सम्मेलन के लिए रजिस्ट्रेशन कराया है।

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने रविवार को इंदौर में 17वें प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन में भारत को दुनिया से जोड़ने के लिए भारत के युवाओं की सराहना की। विदेश मंत्री ने कहा, “चाहे वह प्रौद्योगिकी का स्टार्टअप हो, युवा पीढ़ी भारत को दुनिया से जोड़ने में सबसे आगे हैं। हमारा प्रयास प्रवासी भारतीयों के लिए अपने समर्थन को अधिकतम करना है। हम ऑनलाइन तंत्र के माध्यम से शिकायतों के निवारण पर ध्यान केंद्रित करना है। मुझे विश्वास है कि देश और विदेश में भारतीय युवा इस देश के विकास को और अधिक ऊंचाइयों तक ले जाएंगे।”

उन्होंने कहा कि भारतीय मूल के 34 मिलियन लोगों के साथ देश का रिश्ता “हमें यहां लाता है। कोरोना महामारी की चुनौतियों के बीच यह संबंध बहुत स्पष्ट था। हमने पीआईओ से मिली जबरदस्त प्रतिक्रिया को पहचाना। सभी परीक्षणों के परिणामस्वरूप हमारा बंधन और भी मजबूत हो गया है।

About News Room lko

Check Also

देहरादून में जनवरी के आखिरी में हो रहा गर्मी का अहसास, अधिकतम तापमान 19.8 डिग्री सेल्सियस

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें देहरादून में जनवरी के आखिरी में फरवरी और ...