Breaking News

खाने के पैकेट के जरिए लंदन से नशीली दवाओं का कारोबार, पुणे पुलिस का खुलासा

मेफेड्रोन को लेकर पुणे पुलिस की कार्रवाई लगातार जारी है। इसी बीच, पुलिस ने मामले से जुड़े बड़े खुलासे किए। पुलिस अधिकारी के मुताबिक रेडी-टू-ईट वाले खाने के पैकेट के जरिए मेफेड्रोन की तस्करी की जा रही थी। जांच में पता चला कि प्रतिबंधित दवा मेफेड्रोन की तस्करी को दिल्ली में एक कूरियर फर्म के जरिए अंजाम दिया जा रहा था। अधिकारी ने बताया कि अब तक पुणे और दिल्ली के कई स्थानों से लगभग 1700 किलोग्राम मेफेड्रोन को जब्त किया गया है।

मेफेड्रान मामले में अब तक आठ लोगों की गिरफ्तारी
पुलिस आयुक्त अमितेश कुमार ने कहा कि जांच में पता चला कि तस्करों द्वारा नए तरीके से वारदात को अंजाम दिया जा रहा है। मामले में अब तक आठ लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस आगे की जांच के लिए पूछताछ कर रही है। उन्होंने कहा कि जांच में पुणे पुलिस टीम को मेफेड्रान मिली। शहर के कई हिस्सों से इस तरह की कार्रवाई की गई, जहां से प्रतिबंधित दवा बरामद की गई है।

पुलिस के मुताबिक, जब्त की गई प्रतिबंधित दवाई का मूल्य तीन हजार करोड़ रुपये से अधिक का अनुमान है। जांच में दिल्ली स्थित कई कूरियर फर्म के संलिप्तता होने की बात सामने आई है।

लंदन से कूरियर के जरिए चल रहा था नशे का खेल
मामले की जानकारी देते हुए अमितेश कुमार ने कहा कि हमें पता चला है कि रेडी-टू-ईट वाले खाने के पैकेटों में छिपाकर प्रतिबंधित दवा दिल्ली स्थित एक कूरियर कंपनी के जरिए से लंदन भेजा गया था।

मामले में कार्रवाई करते हुए पुलिस ने कूरियर कंपनी के एक व्यक्ति को हिरासत में ले लिया है। इस दवा की पूरी मात्रा का निर्माण कुरकुंभ एमआईडीसी स्थित इकाई में किया जा रहा था।

अंतरराष्ट्रीय रैकेट का किया खुलासा- पुलिस
दिल्ली और पुणे ऑपेशन के अलावा महाराष्ट्र के सांगली में भी कुछ ड्रग्स जब्त किए गए। अमितेश कुमार ने कहा कि पुलिस ने दो करोड़ रुपये मूल्य के मेफेड्रोन की जब्ती के साथ जांच शुरू की थी, जो अब लगभग 1,700 किलोग्राम तक पहुंच गई है। उन्होंने कहा कि हमने अंतरराष्ट्रीय रैकेट का खुलासा किया है।

About News Desk (P)

Check Also

‘जहां हिंसा हुई, वहां चुनाव की अनुमति नहीं’, मुर्शिदाबाद मामले में हाईकोर्ट की अहम टिप्पणी

रामनवमी के दिन पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले में हुई हिंसा को लेकर कलकत्ता हाईकोर्ट ...