Breaking News

गन्ने का रस पीने से मिलते है हैरान कर देने वाले फायदे

ग्रीष्म का अर्थ गर्म होता है। ग्रीष्म ऋतु में ज्यों-ज्यों गर्मी अधिक तीव्र होती है, त्यों-त्यों इसकी जलन भी अधिक तीव्र होती है। इसके कारण व्यक्ति को छाया और ओस की बहुत आवश्यकता होती है।

कई लोगों के मन में यह शंका होती है कि गन्ने के रस में शुगर है तो कहीं यह ब्लड शुगर तो नहीं बढ़ा देगा? तो गन्ने के रस में कितनी चीनी है ? इसके बारे में जानें।

गन्ने के रस में प्रति गिलास 13 ग्राम आहार फाइबर होता है, जो फाइबर के दैनिक मूल्य का 52 प्रतिशत है। अधिकांश अमेरिकी प्रति दिन केवल 10 से 15 ग्राम फाइबर का सेवन करते हैं।

गन्ने के रस में प्राकृतिक चीनी होती है, क्योंकि इसमें से फाइबर निकल चुका होता है। आपको अपने चीनी सेवन को प्रति दिन 6 से 9 चम्मच तक सीमित करना चाहिए क्योंकि अतिरिक्त चीनी का सेवन मोटापे और वजन बढ़ने के जोखिम को बढ़ाता है।  डॉक्टर से भी सलाह लेनी चाहिए।

240 मिली। गन्ने के रस में 250 कैलोरी होती है। जिसमें 30 ग्राम प्राकृतिक चीनी होती है। गन्ने के रस में जीरो कोलेस्ट्रॉल, फाइबर और प्रोटीन होता है।  इसमें सोडियम, पोटैशियम, कैल्शियम, मैग्नीशियम और आयरन भी होता है।

 

About News Room lko

Check Also

ये हैं भारत के 3 सबसे खूबसूरत हिल स्टेशन, जिनके बारे में नहीं जानते हैं ज्यादा लोग

ट्रैकिंग और कैंपिंग से लेकर गर्मियों में ठंडक के बीच सुकून वाली छुट्टी मनाने का ...