Breaking News

लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय में शिक्षक कल देंगे धरना, कार्य परिषद् की बैठक एवं पदों का स्थाईकरण होगा अहम मुद्दा

लखनऊ। राजधानी के डॉ राम मनोहर लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय लखनऊ में गुरुवार कि सुबह करीब 10:00 बजे से सभी शिक्षक लोहिया चौक पर धरना प्रदर्शन करेंगे। अपनी मांगों को लेकर प्रस्तावित धरना प्रदर्शन में उनकी प्रमुख मांगे हैं..

शिक्षकों के प्रमोशन का लिफाफा

1-एग्जीक्यूटिव काउंसिल मीटिंग बुलाकर तुरंत खोलना।
2-शिक्षकों के स्थायीकरण का पत्र शिक्षकों को तुरंत सुलभ कराना।

शिक्षकों का कहना है कि जब तक यह दोनों मांगे पूरी नहीं हो जाती है तब तक कोई भी शिक्षक अब कल से ना तो कोई प्रोजेक्ट का प्रेजेंटेशन लेगा ना कोई वाइवा इत्यादि होगा। ना परीक्षा का प्रश्न पत्र बना कर देगा, ना परीक्षा के संचालन में कोई भी सहयोग करेगा। शिक्षकों का कहना है कि कार्य परिषद् की बैठक हो या 2013 के शासनादेश के तहत पदों के स्थाईकरण, दोनो ही प्रक्रियाएं किसी भी विश्व विद्यालय प्रशासन के आमतौर पर होने वाली प्रक्रिया है, जिसे लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय ने तिल का ताड़ बना दिया है। अतः मांगे पूरी हो जाने के बाद ही विश्वविद्यालय सुचारू रूप से चल पाएगा।

लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय

आए दिन अपने शिक्षकों को मानसिक प्रताड़ना दे लोहिया राष्ट्रीय विधि विश्वविद्यालय लखनऊ शिक्षकों की सेवाओं को नजरंदाज कर, उनकी भावनाओं से खिलवाड़ कर रहा है। शिक्षकों का मनोबल गिराना ही विश्व विद्यालय प्रशासन का लक्ष्य बन गया है। शिक्षकों का कहना है, जब तक ये मांगे पूरी नहीं हो जाती, तब तक वे अपने कार्यालय में अपना शोध इत्यादि करते रहेंगे और विश्वविद्यालय आते रहेंगे।

राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय के 21 छात्रों का हुआ कैम्पस प्लेसमेंट

बताते चलें कि विश्व विद्यालय के वित्त अधिकार ने शिक्षकों को मार्च माह का वेतन भी अभी तक निर्गत नहीं किया है। विश्व विद्यालय में अशांति एवं छात्र गुटों में फेयरवेल पार्टी के दौरान मारपीट का भी मामला सामने आने से चारों तरफ अराजकता का माहौल दिखाई पड़ता है।

About Samar Saleel

Check Also

यह भारतीय कला का आत्मसम्मान विहीन दौर है- अशोक भौमिक

लखनऊ। जन संस्कृति मंच की ओर से लेखक और पत्रकार अनिल सिन्हा के स्मृति दिवस ...