दशहरा पर रावण दहन से बढ़ा राजधानी का वायू प्रदूषण, आनंद विहार का AQI हुआ सबसे ‘खतरनाक’

15 अक्टूबर को पूरे देश ने दशहरा का त्यौहार मनाया. इसके केवल 24 घंटे के भीतर ही दिल्ली की आबो-हवा खराब होती नजर आ रही है. हवा की गुणवत्ता मांपने वाले मीटर के अनुसार, दिल्ली के सबसे प्रदूषित इलाकों में से एक आनंद विहार का AQI यानी एयर क्वालिटी इंडेक्स 345 पहुंच गया है जो कि ‘खतरनाक’ (Hazardous) श्रेणी में आता है.

दिल्ली में इस साल प्रदूषण के मद्देनजर और लोगों को एक जगह इकट्ठा होने से रोकने के लिए रावण के पुतले को विशाल आकार देने की मनाही रही है. दिल्ली में 20-50 फीट से ज्यादा लंबे रावण के पुतले नहीं बनाए गए. साथ ही ग्रीन पटाखों का इस्तेमाल रावण के पुतलों में किया गया लेकिन बावजूद इसके हवा की गुणवत्ता खराब हो गई है.

11 अक्टूबर तक आनंद विहार का AQI 175 यानि ‘बीमार’ की श्रेणी में था लेकिन केवल पांच दिनों में ये दो गुना हो चुका है और आगे आने वाले दिनों में और ज्यादा गंभीर होने का अनुमान है.

About News Room lko

Check Also

Rajasthan: 60 साल की विधवा से हवास की प्यास बुझाने वाले दरिंदे को मिलेगी फांसी की सजा

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें राजस्थान में 60 साल की विधवा से बलात्कार  ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *