Breaking News

बारबंकी के गांव में तेंदुआ दिखने से फैली दहशत, भगदड़ में प्रधान का हाथ टूटा

चिलचिलाती धूप ने लोक हटने का नाम नहीं ले रहे थे। आलम यह था कि पानी पुरी गन्ने का रस पॉपकॉर्न आइसक्रीम की दुकानें घटनास्थल पर लग गई। लोग घरों से खाना मंगा कर….. 

बाराबंकी। जिले में कई दिनों से तेंदुए की आमद की चर्चा के बाद, सोमवार को, थाना मोहम्मदपुर खाला क्षेत्र की छेदा चौकी अंतर्गत, पड़ने वाले गांव अकम्बा में सुबह 7 बजे तेंदुआ देखा गया, जिसे देख खेतों में काम कर रहे किसानों में दहशत के साथ भगदड़ मच गई। लोग चिल्लाते और दूसरों को सजग करते हुए अपने घरों की तरफ भागे।

अचानक उठते शोर से तेंदुआ खुद दहशत में आ गया और पास खेत में लगे यू-कलप्टिस के पेड़ पर चढ़ गया। धीरे-धीरे वह पेड़ की आखिरी छोर पर पहुंच गया सुबह 7 बजे पेड़ों पर चढ़ने के बाद शाम करीब 7 बजे तक तेंदुआ नीचे नहीं उतरा वन विभाग की टीम ने पूरी एरिया को जाल से बैरी कटिंग की है।

बारबंकी के गांव में तेंदुआ दिखने से फैली दहशत, भगदड़ में प्रधान का हाथ टूटा

आग की तरह फैली तेंदुए की ख़बर

गांव में तेंदुए के आ जाने की खबर क्षेत्र में आग की तरह फैल गई। हर कोई तेंदुए को देखने के लिए अकम्बा गांव की तरफ दौड़ पड़ा और देखते-देखते लोगों का तांता लग गया।  बूढ़े बच्चे और महिलाएं सब देखने पहुंच गए। मौके पर छेदा चौकी प्रभारी हरिशंकर साहू अपनी टीम के साथ पहुंच गए। वहीं डायल 112 से दीवान रवींद्र यादव भी पहुंच गए और स्थित का जायज़ा लिया।

पांच घंटे बाद पहुंची वन विभाग टीम

क्षेत्र में तेंदुए की खबर आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में ही नहीं फैली थी, लोगों ने कई बार वन विभाग के अधिकारियों को तेंदुए होने की खबर देते रहे। सुबह 7:00 बजे की घटना होने पर भी करीब 12:30 बजे तक वन विभाग की टीम नहीं पहुंची थी, जिससे लोगों में नाराजगी भी देखी गई। वन विभाग की टीम पहुंचने के बाद तेंदुआ जिस खेत में पेड़ पर चढ़कर बैठा था, उसके चारों तरफ बैरिकेडिंग की गई। शाम करीब 7:00 बजे तक तेंदुआ पेड़ के नीचे नहीं उतरा था।

पुलिस की भगदड़ में पूर्व प्रधान का हाथ टूटा

जैसे-जैसे तेंदुए की खबर आस-पास के गांव में फैल रही थी लोग घटनास्थल पर पहुंच रहे थे। पुलिस ने लोगों को खदेड़ना शुरू किया। इसी बीच भूतपूर्व प्रधान धनीराम भागते वक्त गिरने से हाथ में गंभीर चोट आ गई।

मेले जैसा हो गया माहौल

सुबह 7:00 बजे से जैसे ही पूरे क्षेत्र में तेंदुआ होने की खबर फैली घटनास्थल पर मेले जैसा माहौल हो गया। घटनास्थल पर करीब हजारों की संख्या में लोग इकट्ठा हो गए। चिलचिलाती धूप ने लोक हटने का नाम नहीं ले रहे थे। आलम यह था कि पानी पुरी गन्ने का रस पॉपकॉर्न आइसक्रीम की दुकानें घटनास्थल पर लग गई। लोग घरों से खाना मंगा कर खेतों में खा रहे थे, पर घटनास्थल से जाने का नाम नहीं ले रहे थे। लोगों में दहशत यह भी थी कि अगर धीरे-धीरे रात होनी शुरू हो गई है और अगर तेंदुआ नहीं पकड़ा गया भाग गया तो क्षेत्र के लिए और भी मुसीबत हो जाएगी।

भीड़ को कम करने के लिए पुलिस ने चालान का अपनाया हथकंडा

धीरे-धीरे सूरज ढलने लगा था और घटनास्थल पर सैकड़ों मोटरसाइकिल चार पहिया वाहन से रास्ते जाम थे। भीड़ को कम करने के लिए पुलिस ने चालान करने का हथकंडा अपनाया, जिसके बाद लोग अपने वाहन लेकर घटनास्थल से निकलने लगे। खबर लिखे जाने तक तेंदुआ पेड़ से नीचे नहीं उतरा था। वन विभाग की टीम स्थानीय पुलिस घटनास्थल पर मौजूद रहे और तेंदुआ को नीचे उतरने का इंतजार कर रही थी।

About reporter

Check Also

काशी विद्यापीठ में लगातार हो रहे अनियमितता एवं भ्रष्टाचार के खिलाफ छात्रों ने खोला मोर्चा

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें प्रेस वार्ता के दौरान, छात्रों ने नेताओं को ...