कुंभ पर सवाल उठाने वालों को भाजपा सरकार से नहीं, भारत से है परेशानी – सिद्धार्थ नाथ सिंह

लखनऊ।  योगी सरकार ने दिव्‍य और भव्‍य कुंभ की कल्‍पना को साकार कर दुनिया के सामने भारतीय संस्‍कृति और आध्‍यात्‍म की अनूठी छवि पेश की । 48 दिन में देश विदेश के 24 करोड़ से अधिक श्रद्धालुओं की सुरक्षा, स्‍वास्‍थ्‍य, आवागमन और रहन सहन की सफलतम व्‍यवस्‍था से राज्‍य सरकार ने सक्षम और समर्थ भारत की नई तस्‍वीर प्रस्‍तुत की। इससे पहले अराजकता, भीड़, असुरक्षा और अव्‍यवस्‍था का पर्याय माने जाने वाले कुंभ को नई पहचान दे कर सरकार ने देश का गौरव दुनिया में बढ़ाया है। यह बात शनिवार को योगी सरकार के प्रवक्‍ता और कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कही।

सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा कि कुछ लोगों से देश का बढ़ता सम्‍मान और गौरव देखा नहीं जा रहा है। दरअसल कुंभ पर सवाल उठा रहे लोगों को परेशानी भाजपा सरकार से नहीं बल्कि भारतवर्ष से है। अतीत गवाह है कि हिन्‍दू संस्‍कति और आध्‍यात्‍म को दबाने और बदनाम करने के लिए लगातार मुहिम चलाई जाती रही है। अफसोस है कि विपक्ष इस तरह की मुहिम चलाने वालों के हाथ का खिलौना बन गया है।

उन्‍होंने कहा कि 2019 में आयोजित कुंभ इतिहास में दर्ज है। गिनीज वर्ल्‍ड ऑफ रिकार्ड ने कुंभ को जगह मिली है । यूनेस्‍को ने कुंभ की भव्‍यता और दिव्‍यता को देखते हुए हेरिटेज घोषित किया है । कुंभ मेला 2019 की सफलता के लिए मेला क्षेत्र और जिले में 683 स्थायी,अस्थायी परियोजनाओं के लिए 2728.93 करोड़ की धनराशि आवंटित की गयी थी। जिसमें से 2339.81 करोड़ की धनराशि खर्च हुई। जबकि 389.11 करोड़ की धनराशि शासन को लौटा दी गई। कुंभ 2019 में स्थायी कार्य 66 फीसदी थे,जबकि अस्‍थाई कार्य 34 फीसदी थे। कुम्भ में आने वाले श्रद्धालुओं, स्नानार्थियों की अचूक सुरक्षा और उनके लिए सुविधापूर्ण सुगम यातायात की व्यवस्था करना एक महत्वपूर्ण चुनौती थी। बचाव एवं राहत कार्यों के लिए सुरक्षा एवं संचार उपकरणों की व्यवस्थाओं के लिए कुल रू0 65.87 करोड़ की धनराशि स्वीकृत की गयी थी। इसके तहत जल पुलिस, यातायात, फायर सर्विस, वायरलेस ,रेडियो संचार आदि के आधुनिक उपकरण उपलब्‍ध कराये गए।

उन्‍होंने कहा कि कोरोना काल के दौरान मेडिकल उपकरणों की खरीद में दिल्‍ली में भ्रष्‍टाचार करने वाली केजरीवाल की आम आदमी पार्टी से लेकर कांग्रेस समाजवादी पार्टी हमेशा से हिन्दू आस्था और संस्कृति पर सवाल उठाती रही है। सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा कि उत्‍तर प्रदेश में कभी इतनी सुव्‍यवस्थित तरीके से कुंभ का आयोजन नहीं हुआ। पिछली सरकारों ने कुंभ के नाम पर सिर्फ लूट की है। लेकिन योगी सरकार ने संतों और श्रद्धालुओं को विश्‍वस्‍तीय सुविधाएं उपलब्‍ध कराई।
कैबिनेट मंत्री ने कहा कि भगवान श्री राम के अस्तित्‍व पर सवाल उठाने वालों से भारतीय संस्‍कृति और आस्‍था के सम्‍मान की उम्‍मीद भी नहीं जा सकती है। उन्‍होंने कहा कि कुंभ पर उठाए गए विपक्ष के सवालों का जवाब उन्‍हें उचित प्‍लेटफार्म पर दे दिया गया है।

About Samar Saleel

Check Also

दुनिया बुरे लोगों की हिंसा से नहीं, बल्कि अच्छे लोगों की चुप्पी से पीड़ित है

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें नैतिक दुविधा की यह स्थिति एक अधिक महत्वपूर्ण ...