Breaking News

PAN Card पर दर्ज 10 अंकों के नंबर का क्या होता है मतलब, यहाँ जानिए

पैन नंबर के बिना 50 हजार रुपए से अधिक लेन देन नहीं कर सकते हैं. बैंक में अकाउंट खुलवाने के लिए पैन कार्ड देना बहुत जरूरी है.पैन कार्ड की बात करें तो किसी भी व्यक्ति का दो बार पैन नहीं बनाया जा सकता. दरअसल पैन कार्ड में पड़ने वाला नंबर एक ही हो सकता है, उसे बदला नहीं जा सकता. ये तो हम सभी जानते हैं कि पैन कार्ड में 10 नंबर का होता है.

जिसमें अंग्रेजी वर्णमाला के अक्षर और डिजिट होते हैं. पैन कार्ड की मदद से आप किसी भी व्यक्ति की बहुत सारी जानकारी ले सकते हैं. तो चलिए जानते हैं पैन कार्ड में लिखे 10 नंबरों का मतलब क्या होता है और पैन कार्ड के जरिए किस तरह की जानकारी मिल सकती है.पैन कार्ड दो प्रकार के होते हैं. भारतीय नागरिक इसे बनवाने के लिए फॉर्म नंबर 49A भरते हैं. विदेशी नागरिक भी पैन कार्ड बनवा सकते हैं इसके लिए उन्हें फॉर्म नंबर 49AA भरने होंगे.

किसी कंपनी के नाम पर लेनदेन करने के लिए अलग से पैन कार्ड बनवाए हैं. जिसे साधारण शब्दों में बिजनेस पैन कार्ड भी कहते हैं. पैन कार्ड बनवाने के लिए बालिग होना जरूरी नहीं है. नाबालिग युवा या छात्र भी ऑनलाइन और ऑफलाइन फॉर्म भर कर इसे मात्र 1 हफ्ते के भीतर प्राप्त कर सकते हैं. पैन कार्ड का चौथा अल्फाबेट बताता है कि आप इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की नजर में क्या हैं. अगर आप इंडिविजुअल हैं तो आपके पैन कार्ड का चौथा अल्फाबेट P होगा. तो चलिए आपको बताते हैं पैन कार्ड के किस कैरेक्टर के पीछे छिपा है कौन सा मतलब.

About News Room lko

Check Also

Samsung और LG स्मार्टफोन पर मैलवेयर के अटैक का खतरा

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें अगर आप Samsung और LG का स्मार्टफोन का ...