Breaking News

योग स्वस्थ रखने का बेहतर प्राकृतिक पैथी है : Dr. Siddhnath

रायबरेली। योग प्राकृतिक औषधि है, इसके नित्य सेवन के बाद मनुष्य को फिर किसी औषधि की आवष्यकता नहीं रहती। यह विचार Dr. Siddhnath (डा0 सिद्धनाथ यादव) ने गायत्री आरोग्य केन्द्र में योग रखे निरोग विषय पर आयोजित विचार गोष्ठी में व्यक्त किया।

विश्व मान रहा योग का लोहा : Dr. Siddhnath

डा0 सिद्धनाथ Dr. Siddhanth ने अपना विचार व्यक्त करते हुए कहा कि,”विश्व आज इसलिए योग का लोहा मान रहा है कि योग मनुष्य को स्वस्थ रखने की सबसे बेहतर प्राकृतिक पैथी है।”

डा0 भगवानदीन यादव ने कहा कि यदि बचपन से ही योग करना शुरु कर दें तो निरोगी काया के साथ दीर्घायु भी मिलेगी। पुराने जमाने में ऋषि मुनि योगी योग के द्वारा ही शतायु जीवन जीते थे। आज लोग औषधि व टानिक पीकर भी शतायु जीवन नहीं जी पाते।

इस अवसर पर आशा सिन्हा, गीता गौतम, मनीराम यादव, ओ. पी. श्रीवास्तव, संतोष, अनिल कुमार, साधना गोयल, आरती, सुमित गोयल, आशा कुमारी, मूलचन्द्र तिवारी, महमूद, ए.आर. श्रीवास्तव आदि उपस्थित थे।


♦अन्य ख़बरें♦


दूसरे दिन भी हुआ योगाभ्यास

रायबरेली। रेलकोच कारखाने लालगंज के सेन्ट्रल स्कूल मे तीन दिवसीय योगाभ्यास कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा हैै।
योग के दूसरे दिन के कार्यक्रम में प्रधानाध्यापक सुरेश चन्द्र शुक्ला ने कहा कि योग हमारी प्राचीन संस्कृति का अहम अंग रहा है। योग को अपनाकर गम्भीर बीमारियों से बचा जा सकता है।

Loading...

रेलवे से आई योग टीचर प्रतिभा श्रीवास्तव ने विद्यालय के छात्र छात्राओ सहित अध्यापको को योगासनो का अभ्यास कराते हुये योग से मिलने वाले लाभो की जानकारी से भी अवगत कराया। उन्होंने कहा कि आज के बदलती हुयी दिनचर्या मे शरीर को स्वस्थ रखना एक चुनौती है।हम सभी अपने शरीर को योग के द्वारा निरोगी बना सकते है।

योग टीचर प्रतिभा श्रीवास्तव ने कहा कि योग मात्र योग दिवस तक सीमीत न रहकर हमारे जीवन मे प्रतिदिन का हिस्सा बनना चाहिये। योग के द्वारा ही हम अपना सर्वांगीण विकास कर सकते है।

इस अवसर पर गेम टीचर प्रमोद यादव, सावित्री पाल, अनिल कुमार, बीपी राम, सीमा चौधरी सहित सभी छात्र छात्राओ ने योगाभ्यास किया।

रिपोर्ट – रत्नेश मिश्रा

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

हसीन जहां ने बाल कल्याण समिति में दर्ज कराया बयान

अमरोहा। टीम इंडिया के क्रिकेटर मोहम्मद शमी की पत्नी हसीन जहां ने बाल कल्याण समिति ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *