Sanskriti murder case : कोई अपना तो नही हत्यारा !

लखनऊ। पॉलीटेक्निक छात्रा संस्कृति के हत्यारों को पकड़कर इस हत्याकांड का जल्द खुलासा करने के लिए एसएसपी दीपक कुमार के नेतृत्व में 50 से अधिक तेजतर्रार पुलिसकर्मियों को लगाया गया है। इसके साथ ही एसटीएफ भी मामले की जांच करने में जुटी हुई है।लेकिन एक हफ्ते से अधिक समय बीत जाने के बाद भी पुलिस महज अंधेरे में तीर मारती हुई नजर आ रही है।

Sanskriti murder case : आवश्यकता पड़ने पर दोबारा पूछतांछ

हत्याभियुक्त का पता लगाने के लिए पुलिस टीम क्राइम सीन का रीक्रिएशन करने से लेकर अबतक कई हथकंडे अपना चुकी है, बावजूद इसके कानून के लंबे हांथ हत्यारे की गर्दन तक नहीं पहुंच पाए।

एएसपी ट्रासगोमती हरेंद्र कुमार की माने तो अबतक लगभग 200 से अधिकलोगों से पूछताछ की जा चुकी है,जिसमें से निशाने पर आए कुछ संदिग्धों पर पुलिस नजर रखे हुए है। जिन लोगों से अबतक पूंछतांछ हुई है उनमें 50 से अधिक टेंपो और ऑटो चालक,पॉलीटेक्निक के छात्र-छात्राओं, संस्कृति के रिश्तेदारों, घरवालों समेत अन्य लोग शामिल हैं। उन्होने किसी करीबी के हत्या में शामिल होने पर भी आशंका जताई है, जिस दिशा में पुलिस जांच कर रही है।

एक रिश्तेदार साथी समेत

पुलिस के मुताबिक घटना वाले दिन 21 जून को संस्कृति का एक रिश्तेदार अपने एक साथी के साथ उसके इंदिरानगर स्थित कमरे पर रुका था। दोनों संस्कृति के रूम पर दोपहर तक रुकने के बाद वापस चले गए थे। उक्त दोनों से पुलिस पूंछताछ कर चुुकी है।

सर्विलांस टीम

हत्याकांड के जल्द खुलासा करने के लिए सर्विलांस सेल को भी लगाया गया है। सर्विलांस सेल की जांच के दौरान सामने आए 45 हजार मोबाइल नंबरों में से दस संदिग्ध नंबर को अलग किया गया है,जिनकी जांच की जा रही है।

ये भी पढ़ें – Burari Death Mistry : मरकर भी देख सकेंगे दुनिया

पुलिस सूत्रों की माने तो जो दो संदिग्ध जांच के दौरान पुलिस के निशाने पर सामने आए हैं उनसे पुष्टि के बाद जल्द ही इस हत्याकांड का जल्द खुलासा कर दिया जाएगा।

रिपोर्ट- अनुपम चौहान

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *