Mayawati बनायेंगी लोकसभा चुनाव की रणनीति

लखनऊ। बसपा सुप्रीमो Mayawati मायावती 9 तारीख को लखनऊ आ रही हैं। वह यहां अपना जन्म दिन मनाएंगी। इसके पहले कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से बात करेंगी। उनकी इस विजिट को इसलिए महत्वपूर्ण समझा जा रहा है क्योंकि इस मौके पर वह सपा व अन्य दलों से लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन की घोषणा भी कर सकती हैं।

Mayawati के लखनऊ आने से पहले

मायावती Mayawati के लखनऊ आने से पहले उनके पुराने बंगले 13 मालएवेन्यू को खाली कर देने के बाद वहीं सामने 9 मालएवेन्यू के नए बंगले को सजाने का काम अंतिम चरण पर पहुंच गया है। अपने पुराने बंगले में लाइन से लगे हाथी और मायावती व कांशीराम की मूर्तियां व अन्य महापुरुषों की मूर्तियां इन दिनो रख रखाव न होने के कारण पूर्व मुख्यमंत्री नाराज हैं। कल होने वाली बैठक में वे कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से इस विषय पर भी चर्चा कर सकती हैं। उनके बंगले को सजाने का जिम्मा पार्टी के जिम्मेदार लोगों को सौंपा है।

बंगले का रंग रोगन होने लगा है। इस बंगले में लगी मूर्तियां और झूमरें चमकाई जाने लगी हैं। कार्यकर्ताओं से मायावती किस स्थान पर बैठकर बातें करेंगी। यह भी तय कर लिया गया है।
बताया जाता है कि मायावती और अखिलेश यादव से चार दिन पहले गठबंधन को लेकर बात हुई थी। यह भी चर्चा है कि अखिलेश सरकार की नजदीकी आईएएस बी. चंद्रकला के खिलाफ सीबीआई जांच भी उसी क्रम का हिस्सा है। ताकि गठबंधन की बात सोच रहे ये दोनो दल दूरियां बढ़ा लें। इस बात की चर्चा है कि मायावती अपने जन्म दिन पर आयोजित कार्यक्रम में गठबंधन की घोषणा कर सकती हैं।

कांग्रेस ने तैयार की लोकसभा चुनाव की सूची

2019 के लोकसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी को शिकस्त देने के लिए समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के बीच संभावित गठबंधन के चलते प्रदेश की राजनीति गर्म है। सपा-बसपा दोनों 37-37 सीटों पर लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं। जानकारी के मुताबिक दोनों ही पार्टी कांग्रेस को केवल रायबरेली और अमेठी सीट ही देनें पर अड़ी हैं। लेकिन यूपी में केवल 2 सीटें मिलने पर कांग्रेस गठबंधन में शामिल होने के लिए कतई तैयार होती नहीं दिख रही। माना जा रहा है कि कांग्रेस हाईकमान ने 30 से ज्यादा नेताओं को 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारी शुरू करने के संकेत दे दिए हैं। इन सभी नेताओं से कहा गया है कि वह बूथ स्तर पर संगठन को मजबूत बनाने में जुट जाएं।

पार्टी सूत्रों के मुताबिक रायबरेली और अमेठी सीट से सोनिया गांधी और राहुल गांधी का लडऩा तय है। जबकि फैजाबाद से निर्मल खत्री, बांदा से नसीमुद्दीन सिद्दीकी, कुशीनगर से अजय कुमार लल्लू और धौरहरा से जितिन प्रसाद का टिकट भी करीब-करीब फाइनल हो चुका है।

वहीं सुल्तानपुर से डॉ संजय सिंह, इलाहाबाद से प्रमोद तिवारी, प्रतापगढ़ से राजकुमारी रत्ना सिंह, बाराबंकी से तनुज पुनिया, उन्नाव से अनु टंडन, कानपुर से श्रीप्रकाश जायसवाल, अकबरपुर से राजाराम, आगरा से राज बब्बर, मुरादाबाद से बेगम नूर बानो, बरेली से प्रवीण सिंह ऐरन, वाराणसी से अजय रॉय, पडरौना से आरपीएन सिंह, भदोही से राजेश मिश्रा, मिर्जापुर से ललितेश त्रिपाठी, झांसी से प्रदीप जैन, फतेहपुर से अभिमन्यु सिंह, सहारनपुर से इमरान मसूद, देवरिया से अखिलेश प्रताप सिंह, बस्ती से केशव चंद्र, फर्रुखाबाद से सलमान खुर्शीद, फूलपुर से एएन सिंह और इटावा से अशोक सिंह समेत 30 से ज्यादा नेताओं को लोकसभा चुनाव की तैयारी में जुटने के लिए कहा गया है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *