पंचायत भवन में मीटिंग नहीं यहां लगता है कूड़े का ढेर

रायबरेली। ऊंचाहार ब्लाक के गंगाकटरी ग्राम पंचायत गोकना गांव में लाखों की लगत से बने पंचायत भवन में बैठक होना दूर यहाँ कूड़े का ढेर लगा हुआ है। लोगोने से प्राप्त जानकारी के मुताबिक वर्ष 2000 से अब तक न तो यहां पंचायत लगी है और न ही यहां पर कोई सरकारी मीटिंग हुई है।

पंचायत भवन को हाईटेक करने

पंचायत भवन में फैली गंदगी और यहां पर लगे कूड़े के ढेर ने ग्राम प्रधान से लेकर ग्राम पंचायत अधिकारियों द्वारा देश भर में चलाये जा रहे स्वच्छता अभियान के प्रति उनकी मंशा की पोल खोल कर रख दिया है। जबकि केन्द्र से लेकर यूपी सरकार तक पंचायत भवनों को हाईटेक करने के लिये भवनों को इंटरनेट सुविधा से जोड़ने के प्रयास किये जा रहे हैं। जिससे ग्राम पंचायत क्षेत्र में रहने वाले ग्रामीणों को इंटरनेट सुविधा का लाभ देते हुए ग्राम पंचायत स्तर पर ही उनकी हर समस्या का समाधान किया जा सके। इसके लिए सरकार द्वारा करोड़ों रूपये भी खर्च किए जा रहे है।

वर्ष 1995 में बने पंचायत घर

इसके विपरीत ग्राम प्रधान और पंचायत अधकारियों के संवेदनहीन रवैये के चलते लाखों की लागत से वर्ष 1995 में बने पंचायत घर में 2000 के बाद से ग्राम प्रधान द्वारा एक भी खुली बैठक नहीं करवाई गयी। उपेक्षा का शिकार हुए पंचायत घर में हालात ये है कि यहां उपजे घांसफूस ने जंगल का रूप ले लिया है। ग्रामीणो द्वारा लिखित शिकायत देने के बवजूद भी नतीजा शून्य है।

स्थानीय निवासी देशराज सिंह ने बताया कि पंचायत घर में खुली बैठक करवाने के लिये डीएम से लेकर मुख्यमंत्री तक लिखित शिकायत देकर खुली बैठक करवाने की मांग किया गया लेकिन अभी तक मांग पूरी नहीं हुयी है। बीडीओ ऋचा सिंह ने बताया कि हम अभी हाल में आए है,पंचायत घर में ग्राम पंचायत की खुली बैठक क्यों नही करवाई जाती इस संदर्भ में जांच करके विधिक कार्यवाही करेंगे।

रत्नेश मिश्रा
रत्नेश मिश्रा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *