Govindacharya : प्रकृति का संपोषण ही हमारा विकास है

लखनऊ। पूर्व सांसद चिंतक विचारक के एन गोविंदाचार्य Govindacharya ने बताया कि हमारे देश में सबसे सुंदर और आकर्षक प्रकृति है ।  जो हमें खुश रखती है और जीवन जीने के लिए प्राकृतिक पर्यावरण उपलब्ध कराती है । हमारी प्रकृति हमें कई प्रकार के सुंदर फूल फूल पशु पक्षी वनस्पति भूमि जल जीव झील पहाड़ पठार आदि प्रदान करती है हमारे स्वस्थ्य जीवन के लिए जो भी उपयोगी है वह सब प्रकृति ने हम सबको दिया है । जिसका हमें संरक्षण करना चाहिए प्रकृति का संपोषण ही हमारा विकास है।

लोक भारती की संगोष्ठी में Govindacharya ने

यह बातें लोक भारती की मासिक संगोष्ठी में पूर्व सांसद चिंतक विचारक Govindacharya ने कहीं । प्रकृति के पास हमारे लिए सब कुछ है लेकिन हमारे पास उसके लिए कुछ भी नहीं है मनुष्य ही जो है । जो प्रकृति का उल्लंघन करता है इसी को ध्यान में रखते हुए लोक भारती जन जागरूकता के माध्यम से स्वच्छता पंचवटी पंच पल्लव हरीशंकरी पौधरोपण जल नदी कुआ तालाब संरक्षण कचरा प्रबंधन आदर्श घर एवं मंगल परिवार के बारे में तथा मूर्तियों फूलों आदि का व्यवस्थित विसर्जन हो इन्हीं पर विस्तृत चर्चा हुई। मासिक संगोष्ठी में प्रमुख रूप से लोक भारती के राष्ट्रीय संगठन मंत्री विजेंद्र पाल सिंह प्राकृतिक कृषि अभियान के गोपाल उपाध्याय संपर्क प्रमुख श्री कृष्ण चौधरी एस आर ग्रुप के चेयरमैन पवन सिंह चौहान  पर्यावरणविद चंद्रभूषण तिवारी आदि ने भाग लिया।

About Samar Saleel

Check Also

Akhilesh yadav says these election are the elections of great change

स्वस्थ लोकतंत्र के लिए सहिष्णु होना आवश्यक : अखिलेश यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *