BSF जवान शहीद

फतेहपुर: जिले के चांदपुर थाना क्षेत्र के सठिगंवा गांव निवासी BSF का जवान जम्मू कश्मीर के अखनूर सेक्टर में शनिवार की देर रात पाकिस्तान की गोलेबारी में शहीद हो गया। जिसकी खबर मिलते ही शहीद के गांव में मातम छा गया। रविवार सुबह से ही गांव वाले पीड़ित परिवार को ढांढस बंधाने के लिए पहुंच गये। जिला प्रशासन के अधिकारियों ने भी पीड़ित परिजनों से सम्पर्क किया। रविवार सुबह से ही अधिकारी उनके घर पहुंच गये। वहीं शहीद का शव सोमवार को गांव पहुंचने की खबर है। घटना के बाद केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति और प्रदेश के कारागार मंत्री जयकुमार जैकी ने शहीद के परिजनों से सम्पर्क किया है।

BSF, केंद्रीय और राज्यमंत्री पहुंचे शहीद के घर

रविवार की दोपहर केंद्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति और प्रदेश के कारागार मंत्री जयकुमार जैकी शहीद के परिजनों के घर पहुंचे। सठिगंवा गांव फतेहपुर निवासी राजू पांडेय पेशे से किसान हैं और उनके बेटे विजय कुमार पाण्डेय बीएसएफ में 33वीं बटालियन बीएसएफ में पोस्ट थे। वह जम्मू कश्मीर के अखनूर सेक्टर में तैनात थे। परिजनों के अनुसार शनिवार देर रात अखनूर सेक्टर में पाकिस्तान की तरफ से भारी गोलाबारी की गई। जिससे घटना में विजय और उनके एक साथी सत्य नारायण शहीद हो गए। बीएसएफ की तरफ से देर रात विजय के परिजनों को इसकी सूचना दी गई। सूचना मिलते ही गांव में कोहराम मच गया। विजय के घर से रोने और चिल्लाने की आवाज सुनकर अन्य ग्रामीण वहां इकट्ठा हो गए।

कानपुर के डिग्री कॉलेज से की थी पढ़ाई

शहीद जवान विजय ने 2007-08 में बलदेव गिर इंटर कॉलेज अमौली में इंटर पढ़ाई की थी। जिसके बाद कानपुर के प्राइवेज कालेज से आगे ग्रेजुएशन की डिग्री हासिल की। इसके बाद वह 4 जुलाई 2012 में बीएसएफ में हुए थे। भर्ती विजय के परिवार में पिता के अलावा एक भाई अजय पाण्डेय हैं जो नगर निगम कानपुर में नौकरी करते हैं। विजय की शुरुआती पढ़ाई गांव के ही प्राइमरी विद्यालय से हुई थी। 20 जून को शहीद विजय की शादी हो गई।

रिपोर्ट—डॉक्टर जितेंद्र तिवारी

About Samar Saleel

Check Also

बेहतर पुलिसिंग से क्राइम को कंट्रोल किया जायेगा: एसपी स्वप्निल

रायबरेली। नवागत पुलिस अधीक्षक स्वप्निल ममगैन ने शुक्रवार की शाम कार्यभार ग्रहण कर लिया है। ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *