Breaking News

“कोविड-19 का अल्‍फा वैरिएंट डेल्‍टा वैरिएंट से 60 फीसदी अधिक होगा संक्रामक”: डॉ एलके अरोड़ा

भारतीय SARS-CoV-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम (INSACOG) के सह-अध्यक्ष डॉ एनके अरोड़ा ने कहा है कि B.1.617.2, जिसे डेल्टा वेरिएंट के रूप में जाना जाता है, अल्फा वेरिएंट की तुलना में लगभग 40-60 प्रतिशत अधिक तेजी से फैलता है।

डॉ एनके अरोड़ा ने सोमवार को कहा बी.1.617.2, जिसे डेल्टा संस्करण के रूप में जाना जाता है, अल्फा संस्करण की तुलना में लगभग 40-60 प्रतिशत अधिक सक्रामक होता है।

डॉ अरोड़ा, जो टीकाकरण पर राष्ट्रीय तकनीकी सलाहकार समूह (एनटीएजीआई) के कोविड-19 कार्य समूह के अध्यक्ष हैं, उन्होंने कहा कि डेल्टा संस्करण, जिसे पहली बार अक्टूबर 2020 में भारत में पहचाना गया था और मुख्य रूप से दूसरी लहर के लिए जिम्मेदार था।

व्हाइट हाउस की कोविड-19 की समन्वयक जेफ जियांट्स ने जानकारी दी कि अरकंसास, फ्लोरिडा, लुसियाना, नेवाडा में संक्रमण की रफ्तार तेज है क्‍योंकि इन स्‍टेट में वैक्‍सीनेशन की दर कम हैं।

ध्‍यान रहे करीब चार हफ्ते पहले महाराष्‍ट्र में अचानक डेल्‍टा वैरिएंट के कई केस सामने आए थे। स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने तब चेतावनी दी थी स वैरिएंट के कारण भारत में कोरोना की तीसरी लहर आ सकती है।

About News Room lko

Check Also

बोलीं ममता, ‘अच्छे दिन’ बहुत देख लिए, अब हम ‘सच्चे दिन’ देखना बाकी है

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें नई दिल्ली। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *