Breaking News

औरैया: राजकीय अध्यापकों के “निर्जल सत्याग्रह” पर लेखाधिकारी को नोटिस, पटल सहायक को मूल पद पर भेजा

औरैया। जिले में विभिन्न देयकों के भुगतान में अनियमितता एवं लेखाधिकारी व पटल सहायक द्वारा किए जा रहे भ्रष्टाचार के विरोध में मंगलवार को राजकीय शिक्षकों द्वारा जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय पर अनिश्चितकालीन निर्जल सत्याग्रह किया गया। जिसके तुरंत बाद जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा लेखाधिकारी से स्पष्टीकरण मांगने और पटल सहायक को मूल पद भेजे के बाद सत्याग्रह समाप्त हो गया।

राजकीय शिक्षक संघ औरैया के जिलाध्यक्ष नीरज चौधरी ने बताया कि वित्त एवं लेखाधिकारी राहुल गौतम व पटल सहायक शिवपाल सिंह द्वारा राजकीय शिक्षकों के देयकों के भुगतान में निरंतर की जा रही अनियमितता, भ्रष्टाचार व घूसखोरी से वह लोग जिलाधिकारी अभिषेक सिंह व जिला विद्यालय निरीक्षक हृदय नारायण त्रिपाठी सहित अन्य उच्चाधिकारियों को ज्ञापन एवं स्मारण पत्रों के माध्यम से लगातार अवगत करा रहे थे।

कार्यवाई न होने पर दी थी आंदोलन की चेतावनी

विगत 16 जुलाई को भी राजकीय शिक्षक संघ के प्रतिनिधिमंडल ने उनके नेतृत्व में अपर जिलाधिकारी रेखा एस. चौहान से भेंट कर उक्त दोनों की कारगुजारियों से अवगत कराते हुए कार्यवाही की मांग की थी और मांगे पूरी न होने पर 28 जुलाई से आंदोलन की चेतावनी भी दी गई थी।

उन्होंने बताया कि लगभग 2 सप्ताह बीत जाने पर भी उक्त दोनों पर कार्यवाही ना होने से असंतुष्ट होकर आज मंगलवार को राजकीय शिक्षक संघ ने पूर्व घोषित कार्यक्रम अनुसार जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय पर अनिश्चितकालीन निर्जल सत्याग्रह पर हम लोग अपनी कार्यकारिणी सहित बैठ गए। उक्त सत्याग्रह में हम लोगों द्वारा कोविड-19 प्रोटोकॉल का पालन किया जा रहा है।

उधर शिक्षक संघ के सत्याग्रह पर बैठने की सूचना मिलते ही प्रशासनिक अधिकारी सक्रिय हुए एवं सायं 4:00 बजे जिला विद्यालय निरीक्षक हृदय नारायण त्रिपाठी द्वारा वित्त एवं लेखा अधिकारी (माध्यमिक) को नोटिस जारी कर स्पष्टीकरण एवं पटल सहायक को तत्काल कार्यालय से हटाने और अपने मूल विद्यालय राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय नसीराबाद में योगदान आख्या देने के आदेश के बाद हम लोगों से सत्याग्रह तोड़ने का अनुरोध किया गया, जिसके उपरांत जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा पानी पिलाकर सत्याग्रह समाप्त कराया गया।

इस मौके पर जिला विद्यालय निरीक्षक द्वारा शीघ्र बजट मंगाकर समस्त देयकों के भुगतान का आश्वासन दिया गया। इस अवसर पर राजकीय शिक्षक संघ के जिलाध्यक्ष नीरज चौधरी, महामंत्री भूपदीप सिंह, उपाध्यक्ष श्रीमती मिलन दीक्षित, विजयंत कैथवार, राम नरेश पाल, चंद्रकांत राजपूत, संपूर्णानंद गौतम, ज्ञानेंद्र अवस्थी, पूनम पोरवाल, रचना मिश्रा, प्रीति वर्मा, मंजू राजपूत, दीपलता, ऋषभ मिश्रा आदि राजकीय शिक्षक/शिक्षिकाओं ने सत्याग्रह में भाग लिया।

रिपोर्ट-अनुपमा सेंगर

About Samar Saleel

Check Also

गुरु पूर्णिमा में सद्गुरु योगीजी को समर्पित की पुस्तक

• मनोवैज्ञानिक डॉ प्रियंका ने गुरुपूर्णिमा में युवाओं को भेंट की स्वलिखित पुस्तक लखनऊ। संस्कार ...