Breaking News

बिधूना : लेखपालों ने एसडीएम को दिया ज्ञापन, 15 दिन में समस्याओं का समाधान न होने पर उठायेंगे अगला कदम  

बिधूना। उत्तर प्रदेश लेखपाल संघ की बिधूना इकाई की हुई बैठक में छह बिन्दुओं पर चर्चा के बाद समस्याओं के समाधान हेतु उपजिलाधिकारी लवगीत कौर को ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन में कहा गया कि लेखपालों की समस्याओं का समाधान किया जाये अन्यथा की स्थिति में वह अगला कदम उठाने को वाध्य होंगे।

लेखपालों ने एसडीएम को दिया ज्ञापन, 15 दिन में समस्याओं का समाधान न होने पर उठायेंगे अगला कदम  

ज्ञापन देने से पूर्व हुई संघ की बैठक –

ज्ञापन देने से पूर्व लेखपालों ने संघ के संघ के अध्यक्ष योगेश शाक्य की मौजूदगी में बैठक की। बैठक मेें लेखपालों से संबंधित विभिन्न समस्याओं पर चर्चा की गयी। जिसमें छह समस्याओं पर गंभीरता से चर्चा हुई। इस दौरान लेखपाल अपनी समस्याओ का समाधान कराने हेतु गंभीर दिखे। लेखपालों द्वारा एसडीएम को दिये गये ज्ञापन में कहा गया कि उक्त समस्याओं पर 15 दिन के अंदर कार्रवाई करते हुए इनका समाधान कर संघ को अवगत कराया जाये। अन्यथा की स्थिति में संघ अगला कदम उठाने को वाध्य होगा। जिसके लिए तहसील प्रशासन जिम्मेदार होगा। बैठक में अध्यक्ष के अलावा मंत्री प्रतिमा लक्ष्मी जादौन, सचिन यादव, प्रियंका राठौर, विमलेन्द्र कुमार, चन्द्र प्रकाश व महेन्द्र आदि मौजूद रहे।

लेखपाल प्रतिमा को दिया नोटिस वापस लिया जाये –

बैठक में लिए गये निर्णय के बाद एसडीएम को जो ज्ञापन दिया गया उसमें तहसीलदार द्वारा 02 मई को कारण बताओ नोटिस जारी कर लेखपाल प्रतिमा जादौन को मानसिक तौर पर प्रताणित करने की निंदा की गयी। इसी के साथ जारी किए गये नोटिस को वापस लेने की मांग की गयी। इसके अलावा लेखपालों का आय, व्यय व निवास तथा कॉपकटिंग का मानदेय 15 दिन के अंदर दिलाये जाने अन्यथा की स्थिति में उक्त तय समय के उपरान्त उक्त से संबंधित काम न करने एवं साप्ताहिक मीटिंग का बहिष्कार करने भी निर्णय लिया गया।

अतिरिक्त चार्ज का जमा करेंगे बस्ता –

ज्ञापन मे कहा गया कि बैठक में निर्णय लिया गया कि यदि उन्हें मानदेय नही मिलता है तो वह अतिरिक्त लेखपाल क्षेत्र का बस्ता जमा कर उसका कार्य नहीं करेंगे। लेखपालों से जबरदस्ती घरौनी का नक्शा दिल्ली भिजवाया जाता है। उस पर आने वाले व्यय की जिम्मेदारी लेखपाल पर डाली जाती है। निर्णय लिया गया कि लेखपाल इस व्यय की जिम्मेदारी नहीं उठायेगे, घरौनी दिल्ली भिजवाने की व्यवस्था की जाये।

15-20 दिन पूर्व उपलब्ध कराया जाये आईजीआरएस संदर्भ –

ज्ञापन में लेखपालों ने कहा कि आईजीआरएस की शिकायत का तत्काल निस्तारण चाहा जाता है। परन्तु प्रार्थना पत्र समय से उपलब्ध नहीं कराये जाते। जिससे उनका निस्तारण गुणवत्ता पूर्ण नहीं हो पाता है। अतः आईजीआरएस संदर्भ 15-20 दिन पूर्व दिलाये जायें।

लेखपालों का बकाया भुगतान तत्काल दिलाया जाये –

ज्ञापन में कहा गया कि सितम्बर से दिसम्बर 2020 तक लेखपाल सुनील कुमार के वेतन का एरिसर, पूर्व लेखपाल प्रिया भदौरिया के डीए का एरियर, सात लेखपालों के एक दिन के वेतन का एरियर बकाया हैं जिनका तत्काल भुगतान दिलाया जाये।

रिपोर्ट – शिवप्रताप सेंगर

About reporter

Check Also

उप मुख्यमंत्री ने जनकल्याणकारी योजनाओं के लाभार्थियों को चेक, टूलकिट एवं प्रमाण पत्र किया वितरित

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें उप मुख्यमंत्री ने महापुरूषों की मूर्ति पर किया ...