Breaking News

कांग्रेस पर फोड़ा ‘नटराजन बम’

नई दिल्ली। गुजरात विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी और कांग्रेस में लगातार घमासान जारी है। जहाँ एक ओर चुनाव जीतने की होड़ में लगी कांग्रेस पीएम मोदी पर गालियों की बरसात कर रही है, वहीँ दूसरी ओर कांग्रेस के कुछ ई—मेल लीक हो गए हैं। जिनसे एक ओर जहां देश की राजनीति में खलबली मच गयी है वहीं देश की जनता के पैरों तले मानो जमीन ही खिसक गयी है। किसी को यकीन ही नहीं आ रहा है कि देश की सबसे पुरानी पार्टी इस हद तक नीचता पर उतर सकती है।
इंडस्ट्र‍ियल प्रोजेक्ट रोकने की कोशिश :—
दरअसल रेल मंत्री पीयूष गोयल ने खुलासा किया है कि कैसे यूपीए सरकार ने गुजरात में लगने जा रहे एक इंडस्ट्र‍ियल प्रोजेक्ट को रोकने की पूरी जी-जान से कोशिश लगा दी। वह भी सिर्फ इसलिए क्योंकि गुजरात में बीजेपी की सरकार थी। गोयल ने खुलासा करते हुए कहा कि उन्हें गांधी परिवार के एक करीबी ने कुछ ई—मेल मुहैया करवाए हैं। ये ई—मेल राहुल गांधी और जयंती नटराजन के बीच की बातचीत के हैं। इनमें जो बाते लिखी हुई हैं उन्हें जानने के बाद किसी के भी होश उड़ सकते हैं। ई—मेल के माध्यम से खुलासा हुआ कि किस तरह यूपीए सरकार ने राजनीतिक फायदे के लिए कई प्रोजेक्ट को समर्थन दिया और कई प्रोजेक्ट को रोक दिया।
मंत्रियों पर नियंत्रण :—
ईमेल से यह भी पता लगा कि किस तरह सरकार को बाहर से कंट्रोल किया जा रहा था। ईमेल से खुलासा हुआ कि सिर्फ नेता ही नहीं उनके सचिव के हाथों में सत्ता की शक्ति थी। ईमेल्स से साफ़ जाहिर होता है कि राहुल गाँधी जयंती नटराजन को निर्देश देते थे कि क्या करना है और क्या नहीं। इन ईमेल से ये भी खुलासा हुआ है कि मनमोहन सिंह का कभी सरकार पर कंट्रोल था ही नहीं। पीयूष गोयल ने ईमेल को सार्व‍जनिक करते हुए दिखाया कि मनमोहन सिंह केवल देखते थे। वह कोई निर्णय नहीं ले सकते थे। पीयूष गोयल ने ईमेल को सार्व‍जनिक करते हुए दिखाया कि किस तरह यूपीए सरकार ने गुजरात में एक इंडस्ट्र‍ियल प्रोजेक्ट को रोकने की कोशिश की।

Loading...
Loading...

About Samar Saleel

Check Also

नैनीतालः मिसाइल की तरह दिखने वाला कालाढूंगी के जंगल में मिला उपकरण, मचा हड़कंप

कालाढूंगी के जंगल में मिसाइल की तरह दिखने वाला उपकरण मिला है। जिसे देख स्थानीय ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *