Breaking News

पड़ोसी मुल्कों के पोलियो संक्रमण से सावधानी

डॉ. दिलीप अग्निहोत्री

भारत के कतिपय पड़ोसी मुल्क अपनी हरकतों से परेशानी बढाते है। इस बार उनकी स्वास्थ्य सेवाओं की बदहाली के प्रतिकूल असर की आशंका है। इसे देखते हुए भारत सरकार ने प्रयास तेज कर दिए है। लखनऊ में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज पोलियो अभियान का शुभारंभ किया। इस अवसर पर उन्होंने अनेक शिशुओं को पोलियो ड्राप पिलाई। योगी आदित्यनाथ ने कहा कि पहले पोलियो के अनगिनत मामले देखने को मिलते थे।

लेकिन World Health Organization WHO और UNICEF के सहयोग से भारत ने अपनी अपनी सवा सौ करोड़ की आबादी को पोलियो जैसी बीमारियों से बचाने में सफलता पाई है। भारत को मार्च 2014 में पोलियो मुक्त घोषित कर दिया गया था। किंतु पाकिस्तान, अफगानिस्तान जैसे देशों में पोलियो के बहुतायत मामले देखने को मिल रहे हैं अतः भारतीय बच्चों को संक्रमण से बचाने की दृष्टि से पोलियो अभियान निरंतर चलाए जाने की आवश्यकता है।

अपरिहार्य हुआ अभियान

भारत के पोलियो मुक्त घोषित हो जाने के बाद भी, पोलियो संक्रमित देशों से पुनः इस बीमारी के संक्रमण का खतरा बना हुआ है। इसे ध्यान में रखते हुए सघन पल्स पोलियो प्रतिरक्षण अभियान का प्रभावी क्रियान्वयन आवश्यक है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के सभी जनपदों में संचालित होने वाले सघन पल्स पोलियो अभियान में पांच वर्ष आयु के लगभग तीन करोड़ करोड़ चालीस लाख बच्चों को पोलियो की खुराक पिलायी जाएगी।

आज एक लाख 10 हजार से अधिक बूथों पर पांच वर्ष तक के बच्चों को पोलियो खुराक पिलायी जा रही है। अभियान के दूसरे दिन से लेकर छठे दिन तक लगभग उनहत्तर हजार टीमें घर घर भ्रमण कर,प्रथम दिन पोलियो खुराक न ले पाने वाले, बच्चों का पोलियो टीकाकरण करेंगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि नवजात शिशुओं सहित पांच वर्ष की आयु तक के सभी बच्चों को बूथ पर ले जाकर पोलियो की खुराक अवश्य दिलवाएं। जिससे देश व प्रदेश को पोलियो मुक्त रखा जा सके।

Loading...

4 वर्षों में 31 नए मेडिकल

समारोह स्वास्थ्य से संबंधित था। इसलिए योगी आदित्यनाथ ने इस क्षेत्र में अपनी सरकार के कार्यों का भी उल्लेख किया। उन्होंने कहा कि आजादी से उनकी सरकार बनने तक प्रदेश में मात्र सोलह मेडिकल कॉलेज थे,वहीं पिछले चार वर्षों में प्रदेश में इकतीस नए मेडिकल कॉलेजों की स्थापना का कार्य चल रहा है। जिला अस्पतालों का विस्तारीकरण किया गया है। सभी जनपदों में एएलएसएम्बुलेंस की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है।

आपदा में अवसर

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में जब कोरोना का पहला मामला आया था। तब यहां जांच की सुविधा नहीं थी। वर्तमान में प्रतिदिन पौने दो कोरोना टेस्ट किए जा रहे हैं। सभी जनपदों में वेंटीलेटर की उपलब्धता सुनिश्चित की गई है। इसको ऑपरेट करने की ट्रेनिंग भी दी गई है। न्याय मंत्री बृजेश पाठक ने कहा कि पोलियो दुनिया के लिए अभिशाप है।

मुख्यमंत्री के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश में कोविड का बेहतर प्रबन्धन किया गया है। जिसकी सराहना अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर हुई है। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद, सूचना निदेशक शिशिर, वीरांगना अवन्तीबाई महिला चिकित्सालय की सीएमएस डॉ सुधा वर्मा सहित अन्य गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

अखिलेश हिन्दुत्व के सहारे करेंगे यूपी में वापसी!

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें गौरतलब हो, समाजवादी पार्टी की तुष्टिकरण की सियासत ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *