CM योगी का स्पष्ट निर्देश- धान क्रय केन्द्रों पर किसानों को न हो कोई असुविधा

उत्तर प्रदेश में कोरोना के हालात को लेकर सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 के प्रति लगाातर सतर्कता बरतने पर जोर दिया है। सीएम योगी ने कहा है कि कोविड-19 के संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए जो प्रभावी प्रयास हैं, उसे जारी रखा जाए। जिन जिलों में कोरोना के रिकवरी रेट कम हैं उनको लेकर सीएम योगी ने चिकित्सा व्यवस्था को सुदृढ़ बनाने की बात कही है। उन्होंने कोविड-19 के मरीजों को बेहतर इलाज की सुविधा उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। मुख्यमंत्री योगी ने ये निर्देश अपने सरकारी आवास पर एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा के दौरान दिए।

उन्होंने कहा कि जिलाधिकारी एवं मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा सुबह कोविड अस्पताल में तथा शाम को इंटीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर में बैठक नियमित रूप से की जाए। इस बैठक में कोविड-19 के नियंत्रण के लिए संचालित गतिविधियों की समीक्षा करते हुए आगे की रणनीति तय की जाए। लखनऊ में वायरोलाॅजी सेन्टर की आवश्यकता पर बल देते हुए उन्होंने कहा कि इसे नेशनल इन्स्टीट्यूट ऑफ वायरोलाॅजी, पुणे की तर्ज पर विकसित किया जाए।

yogi

रोजगार सृजन पर भी ध्यान

मुख्यमंत्री योगी ने इस बैठक में रोजगार बढ़ाने को लेकर कहा कि वर्तमान समय में रोजगार सृजन पर भी ध्यान केन्द्रित किया जाए। लोगों को अधिक से अधिक संख्या में नौकरी प्रदान करने और स्वतः रोजगार की व्यवस्था की जाए। उन्होंने ‘उ0प्र0 कामगार और श्रमिक (सेवायोजन एवं रोजगार) आयोग’ के निर्देशों की जिलों में क्रियान्वयन के सम्बन्ध में जनपद स्तर पर समीक्षा बैठक आयोजित करने के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री ने विद्यार्थियों के प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी सरल तरीके से कर सकें, इसके लिए अनुकूल वातावरण सृजित करने के निर्देश दिए। इस सम्बन्ध में उन्होंने कहा कि, छात्र-छात्राओं के लिए ऑनलाइन कोचिंग की व्यवस्था बनाई जाए।

Loading...

पराली ना जलाने पर जोर

सीएम योगी ने इस समीक्षा बैठक में प्रदूषण को बढ़ने से रोकने के लिए पराली ना जलाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि किसानों को पराली न जलाने के सम्बन्ध में जागरूक किया जाए। इस सम्बन्ध में पब्लिक एड्रेस सिस्टम का भी इस्तेमाल किया जाए। ग्राम प्रधान एवं अन्य लोगों से संवाद तथा सहयोग के माध्यम से पराली जलाने की रोक-थाम की जाए। उन्होंने पराली से बायोफ्यूल बनाने की सम्भावनाओं पर विचार किए जाने पर बल दिया

yogi

किसानों को ना हो चिंता

धान क्रय को लेकर मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि धान क्रय केन्द्रों का सुचारु संचालन कराया जाए। किसानों को कोई असुविधा ना हो, इसके सीएम योगी ने निर्देश दिया कि, यह सुनिश्चित किया जाए कि धान क्रय केन्द्रों पर किसानों को कोई असुविधा न हो और उन्हें एम0एस0पी0 का लाभ मिले। उन्होंने मण्डी शुल्क में कमी के निर्णय को शीघ्र लागू करने के निर्देश भी दिए हैं। वहीं सीएम योगी ने राज्य सरकार के अधीन कार्यरत समस्त कर्मियों को दीपावली पर्व से पहले वेतन भुगतान कराए जाने के निर्देश दिए हैं। इस अवसर पर स्वास्थ्य राज्य मंत्री श्री अतुल गर्ग, मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी भी मौजूद रहे।

Loading...

About Aditya Jaiswal

Check Also

50 रुपये किलो बिकने वाला आलू जल्द होगा सस्ता, 28 रुपये तक घट सकते हैं दाम

प्याज के साथ आलू की लगातार बढ़ती कीमतों ने आम आदमी की रसोई का बजट ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *