Breaking News

एम्स में कोविड 19 टीकाकरण का डीएम-एसपी ने किया निरीक्षण, कहा-व्यवस्थाओं को रखें दुरूस्त

रायबरेली। भदोखर थाना क्षेत्र के अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान के ओपीडी में बने कोविड-19 टीकाकरण बूथ कोरोना वैक्सीन ड्राईरन (रिहर्सल) प्रक्रिया का अन्तिम चरण के निरीक्षण के दौरान डीएम वैभव श्रीवास्तव व एसपी श्लोक कुमार ने व्यवस्थाओं को देखा। सीएमओं सहित एम्स ओपीडी के चिकित्सकों व ड्यूटी पर लगे चिकित्सक व स्वास्थ्य कर्मिकों को निर्देश दिये कि ड्राईरन का अन्तिम चरण है इसमें जो भी कमिया हो उन्हें समय रहते दुरूस्त कर लें क्योकि आगामी दिनों में शीघ्र ही कोविड-19 टीकाकरण का कार्य किया जाना है। एम्स के चिकित्सकों से कहा कि ड्राईरन या कोविड-19 टीकाकरण के समय वैटिंग रूम व औबर्जवेशन को दूर रखा जाए इसके अलावा कोविड-19 के पालन के साथ ही सोशल डिस्टेंसिग व मास्क का प्रयोग अवश्य रहे।

कोविड-19 टीकाकरण के दौरान अन्तिम चरण का ड्राईरन का कार्य कर रहे स्वास्थ्य कर्मचारियों को निर्देश दिये कि वैक्सीन ड्राईरन (रिहर्सल) अन्तिम चरण व आगामी दिनों में टीकाकरण का कार्य पूरी सर्तकता के साथ कार्य किया जाए। जिन लोगों का ट्रायल के दौरान सांकेतिक टीकाकरण किया गया है। और आगामी दिनों में कोविड-19 टीकाकरण होना है उनका शासन के निर्देशानुसार अधिकारी/कर्मचारी का नाम, पता, जन्म तिथि एक सत्यापित आईडी आदि जानकारी लेने के उपरान्त पोर्टल पर अपलोड भी की जानी है। प्रथम चरण में जनपद के स्वास्थ्य विभाग के डाक्टर, एएनएम, नर्स, आशा आदि को कोरोना वक्सीन का टीकाकरण लगाया जायेगा।

द्वितीय चरण में पुलिस, राजस्व, होमगार्ड तथा अन्य सभी कार्यालयों के अधिकारी व कर्मचारियों को टीकाकरण लगाया जायेगा एवं तृतीय तरण के दौरान समस्त नगरीय निकार्यो के अलावा ग्रामीण क्षेत्रों की आमजनता को कोरोना वैक्सीन का टीकारण लगाया जायेगा। माप ड्रिल वैक्सीन के दौरान शहर के जिले के पुरूष व महिला अस्पताल व आईएमए तथा ग्रामीण क्षेत्रों में डीह, हरचन्दपुर व बछरावा सीएचसी सहित सभी सीएचसी पर वैक्सीन ट्रायल ड्राईरन सतर्कता सहित किया गया। इन सेन्टरों पर दो-दो बूथ बनाए गये है प्रत्येक बूथों पर 25-25 कर्मचारियों को कोविड-19 वैक्सीनेशन ड्राईरन किया गया। कोविड-19 ड्राईरन के दौरान टीका लगने वाले व्यक्ति का पहचान पत्र सत्यापित किया गया।

आईएमए सेन्टर पर नोडल डीएस अस्थाना आदि ने भी कोविड-19 वैक्सीनेशन ड्राईरन कराया तथा ड्राईरन कार्य कर रहे कर्मचारियों को स्वास्थ्य प्रोटोकाल व नियामानुसार कार्य करने के उचित दिशा निर्देश भी दिये गये। पूरी प्रक्रिया में कोरोना से बचाव के सभी प्रोटोकाल जैसे मास्क पहनाए बार-बार, बीस सेकेण्ड तक हाथ धोना और 2 गज की दूरी शारीरिक दूरी का पालन करते हुए सम्पादित की गई।

इस मौके पर उपजिलाधिकारी सदर अंशिका दीक्षित, डीडी सूचना प्रमोद कुमार, सूचना विभाग के मो. राशिद सहित एम्स ओपीडी के चिकित्सक कोविड-19 वैक्सीनेशन ड्राई रन सेन्टर पर स्वास्थ्य कर्मचारी भी उपस्थित थे।

रिपोर्ट-दुर्गेश मिश्रा

About Samar Saleel

Check Also

बीमा के बाद भी नहीं दिया क्लेम, अब देना होगा 55 लाख रुपये

लखनऊ:दुकान का बीमा होने के बावजूद क्लेम निरस्त कर देना चोला मंडलम एमएल जनरल इंश्योरेंस ...