Breaking News

चुनाव आयोग पर हत्या का मुकदमा कैसे दर्ज कराया जाए, ले रहे हैं विधिक सलाह: अनुपम मिश्रा

लखनऊ। राष्ट्रीय लोक दल के राष्ट्रीय प्रवक्ता अनुपम मिश्रा ने बताया कि पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष जयंत चौधरी ने पंचायत चुनाव में कार्यरत शिक्षकों और कर्मचारियों की कोरोना संक्रमण से हुई मौत पर दुख जताते हुए कहा है कि वैसे भी देशभर में त्राहि-त्राहि मची हुई है। उस पर चुनाव ने आग में घी डालने का काम किया है। जयंत चौधरी ने उत्तर प्रदेश प्राथमिक शिक्षक संघ के उस पत्र का हवाला दिया जो शिक्षक संघ द्वारा मुख्यमंत्री को लिखा गया है और जिसमें 706 मृतक शिक्षकों की सूची भी संलग्न है। चौधरी ने मृतकों के परिवार के प्रति अपनी गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि हम कोरोना महामारी की आपदा के शिकार प्रत्येक परिवार के साथ संकट की इस घड़ी में न केवल खड़े हैं बल्कि हर संभव मदद भी करेंगे।

जयंत चौधरी ने प्रदेश सरकार को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि सरकार ने ना जाने चुनाव कराने की क्या जिद पकड़ रखी है। यह जानते हुए भी कि इस महामारी में इसके कितने व्यापक परिणाम होंगे। उन्होंने प्रदेश सरकार से चुनाव ड्यूटी के दौरान मृत्यु होने वाले प्रत्येक कर्मचारी के परिवार को एक-एक करोड़ की आर्थिक सहायता व परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दिए जाने की मांग की।

राष्ट्रीय प्रवक्ता अनुपम मिश्रा ने मद्रास उच्च न्यायालय की उस टिप्पणी का जिक्र करते हुए कहा कि वह विधिक सलाह ले रहे हैं कि किस प्रकार चुनाव आयोग पर हत्या का मुकदमा दर्ज कराया जा सकता है। क्योंकि चुनाव आयोग द्वारा इतना गैर जिम्मेदाराना कार्य किया गया है जो उसके संवैधानिक संस्थान की गरिमा को न केवल ठेस पहुंचाता है बल्कि उसकी निष्पक्षता पर भी प्रश्नचिन्ह लगाता है।

अनुपम मिश्रा ने कहा कि जिन राज्यों में चुनाव कराए गए हैं वहाँ से कोरोना के कहर की खबरें आनी शुरू हो गई है। ईश्वर ग्रामीण क्षेत्रों को किसी तरह कोरोना के कहर से बचाए क्योंकि यदि ग्रामीण क्षेत्रों में इसने पैर पसारे तो क्या मंज़र होगा यह सोच मात्र ही मन को विचलित कर देती है।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

औरैया में 152 ने जीती कोरोना जंग, दो की मौत

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें औरैया। जिले में शनि को दो और संक्रमितों ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *