Breaking News

SSP ऑफ‍िस में लंगूर तो गूगल में नौकरी कर रहीं हैं बकर‍ियां

एसएसपी आफिस में लगूर के काम करने की चर्चा बहुत तेजी से फैल रही है। वहीं दूसरी ओर अब बकरियों को नौकरी पर रखने का कारनामा उससे भी ज्यादा रोचक है। दरअसल हाल ही में आगरा के SSP ऑफ‍िस में एक लंगूर की पोस्‍ट‍िंग हुई है। जो आफिस का काम संभाल रहा है। हालां‍क‍ि इससे पहले एक बड़ी कंपनी में बकर‍ियों की भी भर्ती होने की बात सामने आ चुकी है। आइए जानते हैं, आखिर ये लंगू और बकरियां ऑफ‍िस में क्‍या काम संभालते हैं…
लंगूर ने प्रश‍िक्षण लेकर संभाला काम
आजकल आगरा का एसएसपी ऑफिस काफी चर्चा में हैं। हाल ही में यहां पर लंगूर की तैनाती हुई है। यहां लंगूर की तैनाती का मामला काफी रोचक बना है। बता दें क‍ि आगरा के कलेक्ट्रेट ऑफिस में बंदरों का आतंक इधर काफी द‍िनों से बहुत बढ गया है। इससे डीएम, एसएसपी कार्यालय के अलावा दूसरे व‍िभागों के काम भी ठीक से नहीं हो पाते हैं। बंदर सामान को नुकसान पहुंचाने के साथ ही फाइलें तक फाड़ देते हैं। ऐसे में जरूरी काम हर द‍िन प्रभाव‍ित होते हैं। इसल‍िए आगरा के एसएसपी अमित पाठक ने एसएसपी आगरा के कार्यालय में लंगूर की तैनाती के आदेश द‍िए। इसके बाद से यहां पर लंगूर की पोस्‍ट‍िंग कर दी गई है। इस लंगूर को बंदर भगाने की ट्रेन‍िंग दी गई है। इसके बाद लंगूर ने जिम्मेदारी के साथ अपने काम को संभाल लिया।
यहां बकर‍ियों को मिलती है काम के बदले सैलरी

सबसे बड़े सर्च इंजन गूगल के ऑफ‍िस में इंसान और मशीनों के अलावा बकरियां भी काम करती हैं। खास बात यह है क‍ि यहां पर एक दो नही बल्कि करीब 200 बकर‍ियां काम करती हैं। बकरियां हर द‍िन काम करने आती है जिसके बदले उन्हें सैलरी भी दी जाती है। दरअसल इन बकरियों का काम यहां के बड़े से लॉन में लगी हरी-हरी घास को चरना है। इससे बकरियों का पेट तो भरता ही है साथ ही घास की ट्रिमिंग भी हो जाती है। गूगल अपने दफ्तर के लॉन में घास की कटाई के लिये मशीनों का प्रयोग नही करता हैं। मशीनों से निकलने वाले धुंए और आवाज से कर्मचारियों को परेशानी होती है। जिसके बाद गूगल ने यह बड़ा कदम उठाया।

Loading...
Loading...

About Samar Saleel

Check Also

डीटीसी बसों में महिलाओं के लिए मुफ्त सफर खत्म नहीं किया जाएगा: दिल्ली हाईकोर्ट

दिल्ली उच्च न्यायालय ने यह साफ कर दिया कि डीटीसी बसों में महिलाओं के लिए ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *