Breaking News

नीदरलैंड के राजदूत को भारत ने दिया दो टूक जवाब- “कृपया हमें सलाह न दें” 

“कृपया हमें सलाह न दें, क्योंकि हमें पता है कि क्या करना है।” यूक्रेन के मुद्दे पर भारत ने अपनी बात रखते हुए नीदरलैंड के राजदूत को दो टूक में जवाब दिया है। संयुक्त राष्ट्र में यूक्रेन पर वोटिंग के दौरान भारत के गैर-हाजिर रहने पर नीदरलैंड के राजदूत ने दिया था बयान।

नयी दिल्ली। संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने ब्रिटेन में नीदरलैंड के राजदूत से कहा है कृपया, हमें सलाह न दें, ‘नई दिल्ली’ जानती है कि क्या करना है….!!

नीदरलैंड के राजदूत को भारत ने दिया दो टूक जवाब- “कृपया हमें सलाह न दें” 

दरअसल, ब्रिटेन में नीदरलैंड के राजदूत ने कहा था कि भारत को संयुक्त राष्ट्र में यूक्रेन पर वोटिंग के दौरान भारत को गैर-हाजिर नहीं रहना चाहिए था। रूसी सेना ने यूक्रेन पर अपने सैन्य अभियान की शुरुआत 24 फरवरी से की थी। इसके बाद यूरोप देशों के अलावा अन्य राष्ट्र लगातार भारत पर यूक्रेन के समर्थन का दबाव बना रहे हैं।

दूसरी तरफ, भारत ने यूक्रेन पर रूस के हमले के खिलाफ संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद, संयुक्त राष्ट्र महासभा और संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में प्रक्रियात्मक वोटों और मसौदा प्रस्तावों पर वोट नहीं डाला था। रूस के खिलाफ वोटिंग के दौरान भारत के गैर हाजिर रहने पर पश्चिमी देश लगातार बयानबाजी कर रहे हैं।

नीदरलैंड ने भी इस नीति पर सवाल उठाते हुए कहा कि भारत को संयुक्त राष्ट्र महासभा की वोटिंग से गैर-हाजिर नहीं रहना चाहिए था। जिस पर संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीoएसo तिरूमूर्ति ने ब्रिटेन में तैनात नीदरलैंड के राजदूत वैन ओस्टरोम को ट्वीट के जरिए जवाब दिया। ट्वीट में उन्होंने लिखा कृपया हमें सलाह देने की कोशिश न करें, क्योंकि हमें पता है कि क्या करना है।

टीoएसo तिरूमूर्ति ने बुधवार को यूक्रेन पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक में एक बयान दिया। उन्होंने ट्विटर पर अपने पूरे बयान को पोस्ट भी किया है। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा आज दोपहर यूक्रेन में संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक हुई और मैंने नीदरलैंड के राजदूत वैन ओस्टरोम के महासभा में वोटिंग से दूर रहने पर भारत के बारे में टिप्पणी करने पर यह बयान दिया है।

रिपोर्ट: शाश्वत तिवारी

About reporter

Check Also

दक्षिण एशियाई देशों में मौजूद भारत आधारित प्रचीन साहित्य को सुरक्षित एंव संरक्षित करने का अभियान

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें दक्षिण पूर्व एशिया में ‘भारत प्रभावी देशों’ के ...