Breaking News

डिग्री/डिप्लोमा सेक्टर के लिए मानीटरिंग सेल बनाकर निर्माण कार्यों की गुणवत्ता और समयबद्धता सुनिश्चित की जाए – मंत्री आशीष पटेल

लखनऊ। प्रदेश के प्राविधिक शिक्षा, उपभोक्ता संरक्षण एवं बांट माप विभाग मंत्री आशीष पटेल ने आज (25 जुलाई) विधान सभा स्थित सभागार कक्ष में प्राविधिक शिक्षा विभाग में मुख्यमंत्री घोषणा, डिप्लोमा सेक्टर, डिग्री सेक्टर से सम्बन्धित समस्त निर्माण कार्यों की कार्य प्रारम्भ होने की तिथि, कार्यपूर्ण होने की तिथि, परियोजना किस तिथि तक विभाग को हस्तान्तरित कर दी जायेगी तथा परियोजना की अद्यतन वित्तीय एवं भौतिक प्रगति की समीक्षा की।

डिग्री/डिप्लोमा सेक्टर के लिए मानीटरिंग सेल बनाकर निर्माण कार्यों की गुणवत्ता और समयबद्धता सुनिश्चित की जाए – मंत्री आशीष पटेल

प्राविधिक शिक्षा विभाग के डिप्लोमा सेक्टर व डिग्री सेक्टर के निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों को निर्देशित किया कि निर्माण कार्यों को निर्धारित समय में ही पूरा किया जाय। उन्होंने कहा कि इंजीनियरिंग कालेजों के निदेशक अपने यहां चल रहे निर्माण कार्यों की जानकारी रखे और नियमित रूप से निरीक्षण करे।

उन्होंने इंजीनियरिंग कालेजों के निदेशक और पॉलीटेक्निक के प्रधानाचार्यों को निर्देशित किया है कि यदि किसी कार्यदायी संस्था द्वारा प्राप्त धनराशि का गबन किया गया है, तो ऐसे कार्यदायी संस्था के तत्कालीन प्रोजेक्ट मैनेजर के विरूद्ध मुकदमा दर्ज किया जाए।

प्राविधिक शिक्षा मंत्री ने कहा कि प्राविधिक शिक्षा विभाग के डिग्री सेक्टर के निर्माण कार्यों के लिए शासन स्तर पर मानीटरिंग सेल की स्थापना की जाय। मानीटरिंग सेल निर्माण कार्यों की गुणवत्ता और समयबद्धता सुनिश्चित करें, जिससे कि निर्माण कार्य ससमय पूर्ण हो सके और युवाओं को उनके ही जनपद में सभी आवश्यक सुविधाओं के साथ तकनीकी शिक्षा उपलब्ध हो सके। मंत्री जी ने कार्यदायी संस्थाओं द्वारा विभिन्न जनपदों के इंजीनियरिंग कालेजों में कराए जा रहे निर्माण कार्यों की समीक्षा करते हुए कार्य पूर्ण करने की तिथि निर्धारित की है। श्री पटेल  ने कहा कि कार्य पूर्ण करने की निर्धारित तिथि में कार्य पूरी गुणवक्ता के साथ पूरा किया जाए।

प्राविधिक शिक्षा मंत्री ने निर्देश दिया कि प्राविधिक शिक्षा विभाग के डिग्री सेक्टर के निर्माण कार्यों की निरंतर समीक्षा हो इसके लिए प्रत्येक माह के अन्तिम दिवस को प्रत्येक निदेशक निर्माण कार्यों के कार्यदायी संस्थाओं के स्थानीय अधिकारियों के साथ मीटिंग कर निर्माण कार्यों की जानकारी ले और इसकी सूचना प्रत्येक महीने की 1 तारीख को प्रमुख सचिव को उपल्ब्ध कराया जाए। इसी तरह डिप्लोमा सेक्टर के निर्माण कार्यों की निरंतर समीक्षा हो इसके लिए हर महीने की 1 से 7 तारीख के बीच प्रत्येक प्रधानाचार्य निर्माण कार्यों के कार्यदायी संस्थाओं के स्थानीय कार्मिकों के साथ समीक्षा बैठक करें एवं गुणवत्ता का निरीक्षण करें।

मंत्री आशीष पटेल ने कार्यदायी संस्था लोक निर्माण विभाग, आवास एवं विकास परिषद, उप्र राजकीय निर्माण नि लि यूपीपीसीएलसी एण्ड ड0एस, यूपी सिडको, यूपी आरएनएसएस उप्र राज्य निर्माण एवं श्रम विकास सहकारी संघ लि, के अधिकारियों को निर्देशित किया कि निर्माण कार्यों में किसी प्रकार की लापरवाही किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जायेगी। उन्होंने कहा कि जहां पर कार्य मानकों के अनुरूप सही नही पाया गया है वहां पर ठेकेदार की फर्म को ब्लैक लिस्ट किया जाए अन्यथा कार्य मानकों के अनुरूप न पाए जाने पर सम्बंधित कार्यदायी संस्था के जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की जाए।

बैठक में प्रमुख सचिव सुभाष चंद्र शर्मा, विशेष सचिव, अन्नावि दिनेश कुमार एवं कृपा शंकर सिंह, निदेशक प्राविधिक शिक्षा मनोज कुमार सहित इंजीनियरिंग कालेजों के सभी निदेशक और पॉलीटेक्निकों के प्रधानाचार्य तथा विभिन्न कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारीगण उपस्थित रहें।

रिपोर्ट – दया शंकर चौधरी

About reporter

Check Also

महिला व उसके रिश्तेदारो की पिटाई से बुजुर्ग की हुई मौत

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें 6 माह पूर्व खेलते समय बुजुर्ग के नाती ...