Breaking News

मुकेश अंबानी के घर के बाहर कार मिलने के मामले में एनआईए की बड़ी कार्रवाई, सचिन वझे गिरफ्तार

देश के सबसे बड़े उद्योगपति मुकेश अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक के साथ कार मिलने के मामले में एनआईए को एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। एनआईए ने कार्रवाई को आगे बढ़ाते हुए मुंबई पुलिस के एनकाउंटर स्पेशलिस्ट सचिन वझे को गिरफ्तार किया है। कार मालिक की हत्या मामले में पत्नी ने सचिन वझे पर हत्या का आरोप भी लगाया था। आरोप के बाद से ही गिरफ्तारी की मांग की जा रही है। हिरेन की मौत की जांच अब एटीएस कर रही है।

एनआईए ने शनिवार को 12 घंटे की पूछताछ के बाद वझे को गिरफ्तार कर लिया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार वझे को कार मिलने के मामले में गिरफ्तार किया गया है, जिसमें अभी और भी पूछताछ हो सकती है। वहीं, एनआईए ने बताया है कि सचिन को आईपीसी की सेक्शन 286, 465, 473, 506(2), 120 बी और 4(A)(B)(I) विस्फोटक पदार्थ एक्ट 1908 के तहत अंबानी के घर के बाहर विस्फोटक भरी कार रखने में भूमिका निभाने और संलिप्तता के चलते गिरफ्तार किया गया है।

– जानिए कब हुई थी हत्या

मुकेश अंबानी आवास के पास 25 फरवरी को विस्फोटक और धमकी भरे पत्र के साथ कार मिली थी। हिरेन ने दावा किया था कि कार उनकी है लेकिन घटना से एक हफ्ते पहले वह चोरी हो गई थी। इस मामले में उस समय पेंच आया जब हिरेन 5 मार्च को ठाणे में एक नदी किनारे मृत पाए गए थे।

हिरन की पत्नी ने दावा किया कि उनके पति ने एसयूवी पिछले साल नवंबर में वाजे को दी थी और उन्होंने फरवरी के पहले हफ्ते में यह कार लौटाई थी। हालांकि, वझे ने इससे इनकार किया है। सूत्रों के अनुसार विमला हिरेन की ओर से हत्या का आरोप लगाए जाने के बाद सचिन वझे खुद ही एटीएस के सामने पूछताछ के लिए पहुंचे थे। एटीएस ने उनसे 10 घंटे तक पूछताछ की थी।

वहीं, महाराष्ट्र के ठाणे जिले की एक सत्र अदालत ने वझे को अंतरिम जमानत देने से मना कर दिया था कि उनके विरुद्ध प्रथमदृष्टया सबूत और सामग्री है। अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश एस ताम्बे ने वाजे को अंतरिम जमानत देने से इनकार कर दिया और कहा कि हिरासत में लेकर उनसे पूछताछ करने की जरूरत है।

About Ankit Singh

Check Also

दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र की सियासी जंग के बीच भारत की इस देश के चुनाव पर भी पैनी नजर, जानिए वजह

नई दिल्ली। भारत में लोकसभा चुनाव चल रहे हैं और राजनीतिक पार्टियां जोर-शोर से चुनाव प्रचार ...