Breaking News

अस्पताल में न हो किसी मरीज को कोई परेशानी, रखा जाए पूरा ख्याल: अभिषेक सिंह

औरैया। जनपद में कोरोना मरीजों की बढ़ती संख्या को देखते हुए दिबियापुर स्थित महामाया पॉलिटेक्निक को कोविड-19 एल वन हास्पिटल बनाया जा रहा है। सोमवार को जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने औचक निरीक्षण कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। निरीक्षण में एक-एक आवश्यक बिंदु की गहनता से जायजा लिया तथा उसे पूर्ण किए जाने का भी निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि मरीजों की संख्या बढ़ने पर उन्हें इस अस्पताल में भर्ती किया जाएगा। अतः सभी संबंधित अधिकारी अस्पताल में सभी आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें जिससे कि इसमें जो भी मरीज रहे, उन्हें किसी प्रकार की कोई असुविधा न हो यह विशेष रुप से ध्यान दिया जाए।

उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी अर्चना श्रीवास्तव को निर्देश दिए कि वह निर्देश दिए कि वह अस्पताल में मरीजों के लिए साफ चादर, दवा एवं गुणवत्ता पूर्ण खानपान की व्यवस्था को सुनिश्चित की जाये। जबकि एसडीएम सदर को निर्देशित किया कि वह अस्पताल में पेयजल, शौचालय, जनरेटर आदि की व्यवस्था को देखेंगे।

जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज अधिकारी को अस्पताल में साफ सफाई सफाई बनाए रखने एवं सैनिटाइजेशन कराने के निर्देश दिए साथ ही उन्होंने विद्युत विभाग को निर्देश दिए कि वे अस्पताल में बिजली की आपूर्ति बाधित नहीं होनी चाहिए। अस्पताल से आने वाली विद्युत संबंधित समस्याओं को तत्काल निस्तारित किया जाए। इसमें किसी भी प्रकार की कोई लापरवाही न बरती जाये।

इसके बाद उन्होंने पीबीआरपी दिबियापुर का औचक निरीक्षण किया, जहां उन्होंने अनियमितता पाए जाने पर डीपीआरओ को सख्त निर्देश दिए कि वह एडीओ पंचायत भाग्यनगर के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई करें। उन्होंने डीपीआरओ और ईओ नगर पंचायत को निर्देश दिए कि वह सफाई व्यवस्था, सैनिटाइजेशन फॉगिंग आदि नियमित रूप से कराएं इसमें किसी भी प्रकार की कोई शिथिलता न बरती जाए। यदि कोई इसमें लापरवाही बरतता है तो उसके खिलाफ कोरोना महामारी के अंतर्गत कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

निरीक्षण के दौरान अपर सीएमओ डॉ. अशोक कुमार, डिप्टी सीएमओ डॉक्टर एसके दीक्षित, दिबियापुर सीएचसी प्रभारी डॉ. जितेंद्र व सदर तहसीलदार सहित अन्य संबंधित अधिकारीगण उपस्थित रहे।

जिले में कोरोना पर एक नजर

  • अब तक लिये गये कुल सैम्पल – 11617
  • अब तक प्राप्त हुये निगेटिव केस – 10146
  • प्रतीक्षारत सैम्पल की संख्या – 1287
  • अब तक पाजिटिव पाये गये मरीज -187
  • अब तक ठीक हुये मरीज – 115
  • सोमवार को पाजिटिव निकले मरीज -15
  • सोमवार को ठीक होकर घर गये मरीज -0
  • सोमवार को भेजे गये सैम्पल – 255
  • एक्टिव केसो की संख्या – 70

लोगों से सावधानी बरतने की अपील

जिलाधिकारी अभिषेक सिंह ने बताया कि डोर-टू-डोर सर्वे, कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग, सक्षम सर्विलांस, अधिक से अधिक रैपिड एन्टीजन टेस्टिंग के माध्यम से कोरोना मरीजों के बढ़ती संख्या को प्रभावी ढंग से कम किया जा सकता है। जिलाधिकारी ने जनता से अपील करते हुये कहा कि आवश्यक होने पर ही वे घर से बाहर निकलें और बाहर निकलने पर मास्क जरूर लगाएं और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। अधिक उम्र के लोग व छोटे बच्चों को घर से बाहर न निकलने दिया जाए तो ही बेहतर है। दूसरी तरफ गंभीर बीमारी से लड़ रहे लोगों को भी कोरोना वायरस से बचाने की सख्त जरूरत है। क्योंकि ऐसे लोगों की इम्यूनिटी काफी कम होती है। उन्होंने कहा जब तक इसकी कोई कारगर दवा नहीं मिल जाती तब तक बचाव ही एक मात्र विकल्प है।

फ्रंटलाइन स्टाफ बरतें सावधानी

डीएम ने कोविड-19 अस्पताल में काम कर रहे चिकित्सको व अन्य कर्मियों को विशेष सावधानी बरतने के निर्देश दिए। साथ ही आइसोलेशन व क्वारंटाइन सेंटर के कर्मियों, कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग करने वाले कार्मिकों को भी प्रोटोकॉल के अनुरूप काम करने को कहा गया है। जिलाधिकारी ने बताया कि जिला प्रशासन हर संभव प्रयास कर कोरोना वायरस के संक्रमण को बढ़ने से रोक रहा है। उन्होंने अधीनस्थ अधिकारियों को निर्देश दिए कि जिन लोगों द्वारा मास्क का प्रयोग नहीं किया जा रहा है। ऐसे लोगों के विरुद्ध दंडात्मक कार्रवाई की जाए।

रिपोर्ट-अनुपमा सेंगर

About Samar Saleel

Check Also

राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरणों के दो दिवसीय क्षेत्रीय सम्मेलन का हुआ समापन

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें आपदा न्यूनीकरण को लेकर माननीय प्रधानमंत्री के दस ...