Breaking News

महिला दिवस के अवसर पर दो नारियों ने मनवाया अपना लोहा

• माही गिल ‘शबनम’ व डॉ राजकुमारी को मिला ‘नारी गौरव सम्मान 2023’

डॉ अंबेडकर उत्थान परिषद जयपुर के तत्वाधान में महिला दिवस के उपलक्ष्य में ‘नारी गौरव सम्मान 2023’ का आयोजन राज्य कृषि प्रबंधन संस्थान जयपुर के सियाम ओडीटोरियम मेंआयोजित किया गया। इस वर्ष के सम्मान के लिए देवसाक्षी पब्लिकेशन हनुमानगढ़ (राजस्थान) की प्रधान संपादक माही गिल ‘शबनम’ व दिल्ली निवासी ज़ाकिर हुसैन दिल्ली कॉलेज में कार्यरत हिन्दी प्रवक्ता डॉक्टर राजकुमारी को चुना गया। इस कार्यक्रम की मुख्य अतिथि एवं आकर्षण थाइलैंड से गोल्ड मेडल विजेता एवं बॉडी बिल्डर प्रिया सिंह रहीं।

युवाओं को व्यंग और अश्लील कविताओं की अपेक्षा साहित्यिक और मूल्य परक रचनाएं लिखनी चाहिए- डॉ पान सिंह

इस अवसर पर प्रिया सिंह ने डॉ राजकुमारी व माही गिल को साहित्यसेवा एवंम सामाजिक कार्यों में उनके द्वारा दिये गए विशिष्ट योगदान के लिए उन्हें अंगवस्त्र, मैडल एवं प्रतीक चिन्ह प्रदान कर इस सम्मान से विभूषित किया।

नारी गौरव सम्मान 2023

ज्ञातव्य हो कि डॉ राजकुमारी को पूर्व में भी इस सम्मान से सम्मानित किया जा चुका है। उन्हें इससे पूर्व वर्ष 2021 में सम्मानित किया जा चुका है। इसी प्रकार माही गिल ‘शबनम’ संभवतः हनुमानगढ़ जिले की प्रथम महिला प्रकाशक है, एवं प्रकाशन हेतु महिलाओं को प्राथमिकता देती हैं। मात्र एक वर्ष में पच्चीस से अधिक पुस्तकें प्रकाशित करने एवं देशभर के तीन सौ से अधिक लेखकों को प्रमोट कर साहित्यसेवा में विशिष्ट योगदान प्रदान करने के लिए ही उन्हें इस सम्मान हेतु चुना गया है।

भारत की ‘स्पीड’ और ‘स्केल’ को बढ़ा रही है नारी शक्ति- प्रो द्विवेदी

माही गिल व डॉ राजकुमारी कई वर्षों से साहित्य साधना में संलग्न रही हैं, वे अब तक कई किताबें प्रकाशित चुकी हैं। वेबसाइट एवं सोशल मीडिया के माध्यम से देश भर के लेखकों को प्रमोट भी करती हैं। हाल ही में डॉ राजकुमारी द्वारा लिखित एवं माही गिल द्वारा प्रकाशित बहुचर्चित उपन्यास ‘द डार्केस्ट डेस्टिनी’ बहुत कम समय के अंतराल में ही दूसरे संस्करण के प्रकाशन तक पहुंचा है।

नारी गौरव सम्मान 2023

इतना ही नहीं अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय की प्रसिद्ध पत्रिका में शोध के लिए इस उपन्यास को नौ चर्चित उपन्यासों में चयनित भी किया गया है। अपने स्त्रीविमर्श लेखन और समाज जागृति अभियान में भी इनकी अहम भूमिका रही है। ये कई सामाजिक एवं साहित्यिक संस्थाओं से भी जुड़ी हुई हैं।

रिपोर्ट-भावना ठाकर ‘भावु’

About Samar Saleel

Check Also

कोर्ट ने आत्महत्या के मामले में आप विधायक प्रकाश जारवाल को ठहराया दोषी; शहजाद पूनावाला ने साधा निशाना

दिल्ली की राउज एवेन्यू कोर्ट ने एक डॉक्टर की आत्महत्या के मामले में आप विधायक ...