Breaking News

Manifesto : किसान, नौजवान सहित सबकी सुध लेगा राष्ट्रीय लोकदल

राजस्थान/जयपुर। राष्ट्रीय लोकदल ने जातपात और सांप्रदायिक विद्वेष के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई, महिला सुरक्षा, युवाओं को रोजगार,किसानों को दाम, सर पर मैला ढोने, कुपोषण से मुक्ति तथा शिक्षा एवं स्वास्थ्य सेवा का बजट बढ़ाकर क्रमश: 8 एवं 18 फीसद करने, पर्यटन हस्तशिल्प को बढ़ावा देने सहित राजस्थान में सभी तबकों की तरक्की के लिए ठोस कदम उठाने का आश्वासन दिया है।यह आश्वासन राजधानी जयपुर में 1 दिसंबर,2018 को राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय महासचिव त्रिलोक त्यागी द्वारा साथी नेताओं की मौजूदगी में जारी पार्टी के हमारा निश्चय – राजस्थान का नवोदय के शीर्षक वाले घोषणा पत्र में दिए गए हैं।

प्रेस कांफ्रेंस में राष्ट्रीय लोकदल के राष्ट्रीय महासचिव त्रिलोक त्यागी, डा. मसूद अहमद उत्तर प्रदेश अध्यक्ष राष्ट्रीय लोकदल, प्रदेश प्रभारी योगराज सिंह (पूर्व मंत्री), राष्ट्रीय सचिव महेंद्र प्रताप, वसीम राजा राष्ट्रीय अध्यक्ष युवा राष्ट्रीय लोकदल, मनुदेव सिनसिनी प्रदेश अध्यक्ष राजस्थान युवा राष्ट्रीय लोकदल, वेदप्रकाश बेनिवाल प्रदेश अध्यक्ष राजस्थान छात्र सभा राष्ट्रीय लोकदल, डा. अजय तोमर (पूर्व विधायक), राजकुमार सांगवान, यशवीर सिंह, सुभाष गुर्जर एवं राजस्थान प्रदेश रालोद कार्यकारिणी के सभी नेता मौजूद रहे। इस अवसर पर ‘मज़बूत राजस्थान म्हारो’, लोक संगीत भी प्रचार के लिए लांच किया गया।

गठबंधन प्रत्याशियों को जिताने

राष्ट्रीय लोकदल के उम्मीदवार राजस्थान के आगामी विधानसभा चुनाव में भरतपुर से डा. सुभाष गर्ग और मालपुरा से रणवीर पहलवान, भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से गठबंधन के तहत चुनाव लड़ रहे हैं।पार्टी निश्चय पत्र में राष्ट्रीय अध्यक्ष, चौधरी अजीत सिंह की राजस्थान में गठबंधन प्रत्याशियों को जिताने की अपील लिखित में दी गई है।पूर्व प्रधानमंत्री एवं राष्ट्रीय लोकदल के आदर्श माननीय चौधरी चरण सिंह के जातिवाद के धुर विरोधी होने के सिद्धांत को आगे बढ़ाने के लिए इस घोषणा पत्र में पहले ही अनुच्छेद में लिखा है कि रालोद के जन प्रतिनिधि विभिन्न जातियों और समुदायों के बीच भाईचारा स्थापित करेंगे। साथ ही राजस्थान में पार्टी दलितों पर उत्पीड़न की घटनाओं के विरुद्ध निर्णायक कार्रवाई करेंगे तथा सांप्रदायिक विद्वेष की घटनाओं को कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

राष्ट्रीय लोकदल के निश्चय पत्र में महिलाओं की सुरक्षा को तर्जी दी गई है। पुलिस में अधिक संख्या में महिलाओं की भर्ती, सरकारी नौकरियों में 40 प्रतिशत महिला आरक्षण और महिला किसानों के लिए कानून में निहित भेदभाव वाले प्रावधानों को हटवाकर,जमीन की विरासत एवं मालिकाने संबंधी प्रावधानों में महिलाओं को समान अधिकार देने का भी निश्चय जताया है।

बजट में युवा कल्याण के लिए ख़र्च राशि

युवाओं के लिए आकर्षक युवा नीति की पहल तथा बजट में युवा कल्याण के लिए ख़र्च राशि के अलग से हिसाब का प्रावधान कराने का भी आश्वासन दिया गया है। साथ ही युवाओं में उद्यमशीलता और स्वरोज़गार की क्षमता विकसित करने और खेलकूद प्रोत्साहन नीति का वायदा है।कृषि में उन्नति, किसान कल्याण के लिए आधुनिक कृषि मंडियों, भंडारण एवं गोदाम, लंबित सिंचाई की बड़ी और छोटी परियोजनाओं को लागू करने और पीएम फसल बीमा योजना में सीमांत किसानों के हिस्से का समूचा बीमा प्रीमियम सरकार की ओर से चुकाए जाने, किसान दुर्घटना बीमा राशि बढ़ाकर 10 लाख रूपए कराने और पशुपालन को बढ़ावा देने की बात निश्चय पत्र में हैं।

Loading...

विधायक निधि का प्रयोग पारदर्शी

पार्टी विधायकों द्वारा विकास निधि का प्रयोग पारदर्शी रूप में करने तथा उसका हिसाब निश्चित अवधि में www.rashtriyalokdal.com वेबसाइट पर प्रकाशित करने का आश्वासन भी दिया है। निश्चय पत्र में बीजेपी सरकार द्वारा शिक्षा और स्वास्थ्य सेवा के अंधाधुंध निजीकरण के पुनर्मूल्यांकन की आवश्यकता बताई गई है।पुलिस सुधार लागू करने के दृष्टि से सुप्रीम कोर्ट के प्रकाश निर्णय का आलोक किया है।पंचायत चुनाव के उम्मीदवारों पे लागू न्यूनतम शैक्षिक योग्यता की शर्त खत्म करने तथा ग्राम पंचायतों में इंटरनेट कनेक्शन की व्यवस्था का आश्वासन भी राष्ट्रीय लोकदल ने दिया है। भामाशाह योजना को फिजूलखर्ची बताते हुए इसके कार्ड की अनिवार्यता खत्म करने का आश्वासन दिया गया है।

मैनिफेस्टो में ख़ास

अन्य दलों द्वारा अब तक घोषित वादों से भिन्न मैनिफेस्टो में कुछ ख़ास बातें जो रखी गई हैं उनमें शहीद स्मृति ग्राम विकास योजना में अर्धसैनिक बलों, सेना अथवा पुलिस में शहीद होने वाले जवानों के गांवों को विकसित करने का आश्वासन, फेरी—पटरी वालों के अधिकारों की रक्षा, बुजुर्गों को रोडवेज़ बस में मुफ्त यात्रा सुविधा आयु सीमा को 80 साल से घटाकर 70 साल करना और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए ब्लॉक स्तर पर पोस्टमार्टम का आधुनिक एवं स्वच्छ प्रबंध प्रमुख हैं।

Loading...

About Samar Saleel

Check Also

शादी में आतिशबाजी करना और डीजे बजाना दूल्हे को पड़ा भारी, हुआ ये

नोएडा में शादी में आतिशबाजी करना और डीजे बजाना दूल्हे को भारी पड़ गया है. ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *