Breaking News

बालिका विद्यालय इंटरमीडिएट कॉलेज में रोड सेफ्टी क्लब का हुआ गठन

  • सड़क सुरक्षा नियमों की अवहेलना को अपनी शेखी न समझें : डॉ लीना मिश्र

  • परिवारजनों और समाज के लोगों को जागरूक करने हेतु छात्राओं को दिलाई गई शपथ

  • बालिका विद्यालय में सड़क सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन

  • Published by- @MrAnshulGaurav
  • Thursday, May 27, 2022

लखनऊ: यात्रा के दौरान, अक्सर हम अप्रिय समाचार सुनते और घटना के साक्षी बनते रहते हैं, पर उनसे बचने के लिए बनाए गए नियमों की अनदेखी भी कभी हम अनजाने में करते हैं तो कभी अपनी शेखी में। वास्तव में हमें न कि सिर्फ अपनी जिंदगी को सुरक्षित रखना है बल्कि, सड़क चलते हुए अपनों के भी जीवन को ऐसी किसी अप्रिय दुर्घटना से सुरक्षित रखना है।

बालिका विद्यालय इंटरमीडिएट कॉलेज में रोड सेफ्टी क्लब का हुआ गठन

इसके लिए यदि सड़कों पर सुरक्षित चलने के लिए बनाए गए नियमों को बाल मन में ही सुरक्षित और संरक्षित कर दिया जाए यानी यह संस्कार उनमें बचपन से ही डाल दिए जाएं तो वे न तो आजीवन भूलेंगे और न ही कभी नाक की बात बनाएंगे। सरकार तो इस समस्या के मद्देनजर जागरूकता के लिए समय-समय पर अभियान चलाती ही है, समानांतर रूप से बालिका विद्यालय अनेक सांस्कृतिक, अकादमिक और समाजोपयोगी गतिविधियों के आयोजन के क्रम में ऐसे आयोजन कर छात्राओं को उनके और उनके द्वारा सभी के जीवन को सुरक्षित रखने का निरंतर प्रयास करता है।

बालिका विद्यालय इंटरमीडिएट कॉलेज, मोती नगर, लखनऊ में 18 मई 2022 से लगातार सड़क सुरक्षा जागरूकता कार्यक्रम के अंतर्गत विभिन्न आयोजन किया जा रहा है जिससे सड़क पर होने वाली दुर्घटनाओं से बचने के लिए यातायात संबंधी नियमों की जानकारी पाकर और उसको अपने जीवन में अपनाकर यहां की छात्राएं अपने और अपनों की जिंदगी में सुरक्षित रख सकें और किसी दुखद घटना से बच सकें। 18 मई को विद्यालय की प्रधानाचार्य डॉ लीना मिश्र द्वारा छात्राओं को यातायात संबंधी नियमों की विस्तृत जानकारी देते हुए उन्हें इस बात के लिए जागरूक किया गया कि अपने अभिभावकों और आसपास के लोगों को भी ये सावधानियों अपनाने के लिए प्रेरित करें। विद्यालय में एक रोड सेफ्टी क्लब का गठन किया गया, जिसमें विद्यालय की शिक्षिकाओं श्रीमती पूनम यादव, माधवी सिंह तथा मंजुला यादव को नोडल के रूप में नियुक्त किया गया।

उनके निर्देशन में कक्षा 12 की 10 छात्राएं इस क्लब के लिए चयनित हुई। इस कार्यक्रम में सीमा आलोक वार्ष्णेय एवं उत्तरा सिंह का भी सहयोग रहा। तत्पश्चात विद्यालय की छात्राओं को सड़क सुरक्षा जागरूकता से संबंधित शपथ दिलाई गई और प्रभात फेरी निकाली गई। बच्चों ने अपने अभिभावकों तथा आसपास के लोगों को इन नियमों की विस्तृत जानकारी प्रदान कर उन्हें इसको अपनाने की शपथ ली।

इस कार्यक्रम को प्रभावी बनाने के लिए और यातायात नियमों को अपने जीवन में उतारने का संस्कार देने के लिए प्रकारांतर से किए गए प्रयासों में विभिन्न प्रकार की प्रतियोगिताओं का भी प्रमुख स्थान रहा जिन्हें ऑनलाइन और ऑफलाइन मोड में आयोजित किया गया। इस क्रम में स्लोगन एवं पोस्टर प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया जिसमें संगीता यादव प्रथम, सौम्या थापा द्वितीय और ऋषिता चंद्रा और हिना तृतीय स्थान पर रहे। कविता प्रतियोगिता में मोहिनी पाल प्रथम तथा खुशी दूसरे स्थान पर रही। निबंध प्रतियोगिता में मीनाक्षी प्रथम तथा खुशी द्वितीय स्थान पर रही।

सड़क सुरक्षा जागरूकता पर आधारित क्विज प्रतियोगिता का भी आयोजन किया गया था जिसमें छात्राओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। इसके अतिरिक्त छात्राओं ने लोगों को जागरूक करते हुए वीडियो बनाकर भी ग्रुप पर भेजा। पूरे सप्ताह चले इस सड़क सुरक्षा सप्ताह कार्यक्रम का विद्यालय के आसपास बसी मलिन बस्ती के नागरिकों के मन मस्तिष्क पर व्यापक असर देखने को मिला।

उल्लेखनीय है कि ये छात्राएं इसी प्रकार करोना आपदा में मदद करने, वैक्सीन के लिए जागरूक करने, मतदान को एक पुण्य कार्य के रूप में अवश्य करने, विद्यालय चलो अभियान या इस प्रकार के अन्य अभियानों में अपना सक्रिय योगदान देते हुए जहां विद्यालय और शिक्षा विभाग के उद्देश्यों को पूरा करती हैं, वहीं विभिन्न सामाजिक कार्यों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेने के प्रति भी संस्कारित होती हैं।

About reporter

Check Also

हर घर तिरंगा का उत्साह

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें Published by- @MrAnshulGaurav Monday, August 08, 2022 मुख्यमंत्री ...