Breaking News

शास्त्री ने सूर्या को दी ये सलाह, ODI में मचा देंगे धमाल

टीम इंडिया के धाकड़ बल्लेबाज सूर्यकुमार यादव को क्रिकेट का नया ”मिस्टर-360” कहा जा रहा है, क्योंकि उनका बल्ला टी-20 क्रिकेट में धमाल मचा रहा है। सूर्या के पिच पर उतरते ही गेंदबाजों की शामत आ जाती है, लेकिन न्यूजीलैंड के खिलाफ वनडे सीरीज में सूर्या का बल्ला ज्यादा नहीं चला। दूसरे और तीसरे वनडे में SKY बड़ी पारी नहीं खेल पाए।

अब टीम इंडिया (Teem India) के पूर्व कोच रवि #शास्त्री (Ravi Shastri) ने सूर्या को एक ऐसी सलाह दी है, जिसके दम पर वह टी-20 की तरह वनडे में भी धमाल मचा सकते हैं।

न्यूजीलैंड के खिलाफ के टी-20 और वनडे के प्रदर्शन को देखते हुए रवि शास्त्री ने #सूर्यकुमार यादव को अहम सलाह दी है। शास्त्री का कहना है कि सूर्यकुमार यादव को टी-20 मैच की जगह वनडे में ज्यादा टाइम मिलता है। इसलिए जब वह बल्लेबाजी करने उतरते हैं तो उन्हें अपना पूरा टाइम लेना चाहिए, जिससे उन्हें वनडे में आसानी होगी।

रवि शास्त्री का कहना है कि वनडे का मुकाबलाटी-20 के मुकाबले ज्यादा बड़ा होता है, इसमें बल्लेबाजी करने के लिए पर्याप्त समय मिलता है, इसी वजह से सूर्यकुमार यादव अपना समय ले सकते हैं। रवि शास्त्री ने यह बात प्राइम वीडियो पर बातचीत के दौरान कही है।

IPS बीके मौर्य के फार्महाउस मैनेजर ने की आत्महत्या, सामने आई ये बड़ी वजह

टी-20 में अपनी छाप छोड़ चुके हैं SKY

रवि शास्त्री ने कहा कि सूर्यकुमार यादव टी-20 में अपनी छाप छोड़ चुके हैं, जबकि उन्हें 30 साल की उम्र में ही अंतरराष्ट्रीय #क्रिकेट खेलने शुरू किया हैस लेकिन अभी उन्हें वनडे और टेस्ट मैचों में चमकना बाकि है, सूर्या के पास जो तकनीक है, उससे वह इन दोनों फॉर्मेट में भी शानदार प्रदर्शन कर सकते हैं। इसलिए उन्हें समय लेकर बैटिंग करनी चाहिएस क्योंकि ऐसा करने से वह वनडे में भी बड़ी पारी खेल पाएंगे, क्योंकि उनके अंदर वनडे में बड़ी पारी खेलने का माद्दा है।

आखिरी वक्त में विस्फोटक रवैया अपना सकते हैं

शास्त्री का कहना है कि ऐसा किसी भी खिलाड़ी के साथ हो सकता है कि वह टी-20 में अच्छा खेल जाए, लेकिन वनडे में बड़ी पारी नहीं खेल पाए, क्योंकि वनडे टी20 से ढाई गुना बड़ा होता है। ऐसे में यादव को यहां ज्यादा से ज्यादा गेंदे खेलनी चाहिए, जब वो अपने गेम में सेट हो जाए तो फिर पारी के आखिरी में विस्फोटक रवैया अपना सकता है, क्योंकि आपको टी-20 में 30 से 40 रन बनाने के लिए पर्याप्त समय मिलता है।

शास्त्री ने बताया कि कंडीशंस को भी देखना पड़ता है, क्योंकि वनडे में आपको कई बार कंडीशंस के हिसाब से बल्लेबाजी करनी पड़ती है, लेकिन टी-20 में ज्यादा समय नहीं मिलता है। इसलिए वनडे और टी-20 में बेटिंग करना अलग-अलग होता है,  क्योंकि कोई भी खिलाड़ी अगर कंडीशंस का सम्मान नहीं करेंगे तो फिर अच्छा नहीं खेल पाएंगे।

About News Room lko

Check Also

ईशान किशन या शुभमन गिल किसके आंकड़े हैं T20 क्रिकेट में बेस्ट, 149 मैच खेलने का है अनुभव

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें भारत और न्यूजीलैंड के बीच 3 मैचों की ...