Breaking News

बर्लिन की दीवार गिराने की 30वीं वर्षगांठ मना रहा गूगल, ऐसे किया सेलिब्रेट

बर्लिन की दीवार 9 नवंबर, 1989 को गिरा दी गयी थी और आज इसकी 30वीं वर्षगांठ है। इस मौके पर गूगल ने एक खास अंदाज में डूडल बनाकर बर्लिन की दीवार गिराने की एनिवर्सिरी मना रहा है। इस दीवार की वजह से शीत युद्ध के दौरान पूर्वी यूरोप के कम्युनिस्ट पश्चिमी यूरोप में दाख़िल नहीं हो पाते थे। मालूम हो कि इस दीवार के गिरने के साथ कम्युनिस्ट शासन का समापन हो गया।

जानिए क्यों बनाई गई थी बर्लिन की दीवार

Loading...

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दूसरे विश्वयुद्ध की समाप्ति के बाद यूरोप कम्युनिस्ट पूर्वी और पूंजीवादी पश्चिमी दो भागों में बांट दिया गया था। इस दीवार को 13 अगस्त 1961 को बनाया गया था और 9 नवम्बर, 1989 में इसे तोड़ दिया गया। दूसरे विश्वयुद्ध के बाद जर्मनी का विभाजन हो गया था। बता दें कि अधिक संख्या में मजदूर और व्यवसायी प्रतिदिन पूर्वी बर्लिन को छोड़कर पश्चिमी बर्लिन जाने लगे। बहुत से लोग राजनैतिक कारणों से भी समाजवादी पूर्वी जर्मनी को छोड़कर पूंजीवादी पश्चिमी जर्मनी जाने लगे। इससे पूर्वी जर्मनी को आर्थिक रूप से नुकसान होने लगा।

इसलिए बर्लिन की दीवार को बनाया ताकि प्रवासन को रोका था। इस दीवार के विचार की कल्पना वाल्टर उल्ब्रिख़्त के प्रशासन ने की और सोवियत नेता निकिता ख्रुश्चेव ने इसे मंजूरी दी।

Loading...

About News Room lko

Check Also

आरबीआई ने दी ऑफलाइन डिजिटल लेनदेन को मंजूरी, बिना इंटरनेट भी हो सकेगा भुगतान

भारतीय रिजर्व बैंक ने एक ऐसी सुविधा की शुरुआत की है, जिसके जरिए आप बिना ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *