महंत नरेंद्रगिरि की संदिग्ध मौत का मामला: सुप्रीम कोर्ट के जज की निगरानी में हो सीबीआई जांच

लखनऊ। अखाड़ा परिशद के अध्यक्ष महन्त नरेन्द्रगिरी की हुयी संदिग्ध मौत की शुरू हुयी सीबीआई जांच को लेकर श्री कृष्ण जन्मभूमि न्यास एवम श्री कृष्ण जन्मभूमि मुक्तिदल के राष्ट्रीय सह प्रमुख गौरव वर्मा ने इस मामले की सीबीआई जांच सुप्रीमकोर्ट के सिटिंग जज की निगरानी में कराये जाने की मांग की है। आज यहां पत्रकार वार्ता में श्री वर्मा ने कहा कि उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के कार्यकाल में अब तक 24 से अधिक संतों की निर्मम एवं संदिग्ध मौतें हुयी है, जो काफी चिन्तनीय विषय है।

उन्होंने नरेन्द्रगिरी की संदिग्ध मौत को लेकर सामने आ रहे नये वीडियो से साफ है कि एक षड़यंत्र के तहत उनकी हत्या की गयी है, इसलिये हत्यारे तक पहुंचने के लिये सीबीआई जांच सुप्रीमकोर्ट के सिटिंग जज की निगरानी में कराये जाने की जरूरत है, ताकि मामले की जांच जल्द से जल्द हो सके और हत्यारों को कड़ी से कड़ी सजा मिल सके। मालूम हो कि 18 अक्टूबर 2019 को पंडित कमलेश तिवारी की भी विशेष धर्म के द्वारा घर मे घुसकर हत्या कर दी गयी, जिसका आज तक कोई ठोस निर्णय सामने नहीं आ पाया है।

इस मौके पर संगठन के राष्ट्रीय सचिव मोहित मिश्रा ने कहा महंत नरेन्द्र गिरी को सरकार द्वारा वाई श्रेणी की सुरक्षा मिली हुयी था, उस समय उनके सुरक्षाकर्मियों की क्या लोकेशन थी, इस तरह के तमाम कई अनसुलझे पहलू है, जो कहीं न कहीं नरेन्द्र गिरी की आत्महत्या कम हत्या की ज्यादा इषारा कर रहे है। श्री मिश्रा ने कहा कि नरेन्द्र गिरी को ज्यादा लिखना पढ़ना नही आता था और उनकी संदिग्ध मौत के आनंद गिरि, आद्या तिवारी, संदीप तिवारी के अलावा कई और भी राजदार है पत्रकार वार्ता में उपस्थित राष्ट्रीय सह प्रमुख राजेश मनी त्रिपाठी, बाबा महादेव, राष्ट्रीय सन्त त्रिलोकी नाथ मिश्रा, आशुतोष, स्नेह सागर मिश्रा, प्रीति राय, शानू कौशल, अनिल द्विवेदी, सोनू यादव, सौरभ, उदय, मनीष, सोनू रावत सहित सैकड़ों लोग उपस्थित रहे।

About Samar Saleel

Check Also

बनारस रेल इंजन कारखाना में साइकिल रैली का अयोजन

🔊 खबर सुनने के लिए क्लिक करें वाराणसी।आजादी का अमृत महोत्सव आयोजन की श्रृंखला में ...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *